पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पानीपत के 6 मिडिल स्कूल होंगे मर्ज:सीनियर सेकेंडरी स्कूलों के प्रिंसिपल को सौंपी जिम्मेदारी; शिक्षक बोले- यह गलत नीति

पानीपत2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा के पानीपत के छह मिडिल स्कूलों को मर्ज किया गया है। इनमें से चार कन्या स्कूल हैं। इन स्कूलों की दूरी सीनियर सेकेंडरी से एक किलोमीटर के अंदर है। मर्ज होने वाले स्कूलों में मिडिल हेड का पद खत्म हो गया है।

स्कूलों को भी संभालने की जिम्मेदारी अब सीनियर सेकेंडरी स्कूलों के प्रिंसिपल पर होगी। वहीं शिक्षक सरकार की स्कूलों को मर्ज करने की नीति को गलत ठहरा रहे हैं।

उनका कहना है कि स्कूलों में शिक्षकों की नियुक्ति की बजाय सरकार और विभाग उन्हें मर्ज करने में लगे हैं। जबकि मर्ज किए गए जाने वाले स्कूलों में विद्यार्थियों की संख्या ठीक ठाक है।

ये छह स्कूलों को मर्ज के आदेश

राजकीय कन्या मिडिल स्कूल हथवाला को राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल हथवाला, राजकीय कन्या मिडिल स्कूल झट्टीपुर को राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल झट्टीपुर, राजकीय कन्या मिडिल स्कूल सींक को राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल सींक, राजकीय कन्या मिडिल स्कूल आसन कलां को राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल आसन कलां, राजकीय मिडल स्कूल माता पुली रोड समालखा को राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल भापरा रोड समालखा में मर्ज किया गया है।

जिले के छह स्कूल होंगे मर्ज

जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी बृजमोहन गोयल ने बताया कि निदेशालय की ओर से जिले के छह मिडिल स्कूलों को गांव के ही राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूलों में मर्ज करने के आदेश आए हैं। उक्त सभी स्कूलों को मर्ज करने की कार्रवाई जल्द की जाएगी। उन्होंने बताया कि अब इन मिडिल स्कूलों में हेड के पद नहीं रहेंगे, डीडीओ पावर और इन स्कूलों की पूरा जिम्मेदारी सीनियर सेकेंडरी स्कूलों के प्रिंसिपलों की होगी।