पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Haryana
  • The Education Department Canceled The Deputation Order Of 72 Morni Teachers, Citing Administrative Reasons; To Get Additional Facilities

72 शिक्षकों के डेपुटेशन ऑर्डर कैंसिल:हरियाणा शिक्षा विभाग ने प्रशासनिक कारणों का हवाला दिया; मेवात के शिक्षक लगे रहेंगे

चंडीगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक तस्वीर - Money Bhaskar
प्रतीकात्मक तस्वीर

हरियाणा शिक्षा विभाग ने 72 शिक्षकों को मोरनी में डेपुटेशन पर भेजने के आदेशों को तुरंत प्रभाव से रद्द कर दिया है। इसके पीछे प्रशासनिक कारणों का हवाला दिया गया है। वहीं मेवात कैडर के लिए भेजे गए सभी 550 शिक्षकों के आदेश यथावत रहेंगे। इनके विषय में बाद में विचार किया जाएगा।

बीते दिन ही शिक्षा विभाग की तरफ से भेजे गए नोट में कहा गया था कि विभाग ने मेवात और मोरनी में 622 शिक्षकों के तबादला आदेश जारी कर दिए हैं। इन दोनों ब्लॉक के कुछ स्कूलों में शिक्षकों की कमी थी, जिसके लिए विभाग ने कुछ अतिरिक्त सुविधाएं देते हुए वहां नौकरी करने के इच्छुक शिक्षकों से आवेदन मांगे थे, लेकिन स्थायी नियुक्ति केवल मेवात कैडर के लिए की गई है।

यह अतिरिक्त सुविधाएं मिलेगी

मेवात और मोरनी जाने पर शिक्षकों को कुछ अतिरिक्त सुविधाएं मिलती हैं। अतिरिक्त सैलरी और भत्ते सुविधाएं दिए जाने का प्रावधान भी किया गया है। कार्यकाल 1 अप्रैल 2022 से 31 मार्च 2023 तक रहेगा। उनको अपने वर्तमान काडर में वरिष्ठता छोड़नी होगी और मेवात काडर के मुताबिक वरिष्ठता ग्रहण करनी होगी।

शिक्षक को एक एफिडिवेट भी विभाग को देना होगा। स्थायी शिक्षक, जो डेपुटेशन आधार पर मेवात या मोरनी में कार्यग्रहण करेंगे, उन्हें बेसिक वेतन और महंगाई भत्ते का 10 फीसदी अतिरिक्त भुगतान किया जाएगा। अतिथि अध्यापक, जिनका चयन अस्थायी तौर पर मेवात या मोरनी के लिए किया गया है, उन्हें 10 हजार रुपए मासिक इंसेटिव दिया जाएगा। मेवात और मोरनी के लिए चयनित शिक्षक डेपुटेशन के दौरान ट्रांसफर ड्राइव में भाग नही लेंगे।