पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX60388.02-0.6 %
  • NIFTY17979.5-0.74 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47943-0.08 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61414-0.3 %

किसानों को राहत:मिल में 5,37,800 क्विंटल गन्ने की हुई पेराई

करनाल |2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सहकारी चीनी मिल करनाल की प्रबंध निदेशक अदिति ने बताया कि किसानों की बहुत पुराने समय से चली आ रही मांग को पूरा करते हुए हरियाणा सरकार ने दी करनाल सहकारी चीनी मिल लिमिटेड करनाल को कार्यक्षमता 2200 टीसीडी से बढ़ाकर आधुनीकरण एवं विस्तारीकरण कर 3500 टीसीडी रिफाइंड शुगर से 5000 टीसीडी विस्तार योग्य 18 मेगावाट के बिजली उत्पादन संयन्त्र सहित 263.08 करोड़ रुपए खर्च करके पूरा किया है। उन्होंने बताया कि चीनी मिल द्वारा सोमवार को अपनी पूरी पिराई क्षमता से अधिक 3600 टीसीडी गन्ने की पिराई कर सोमवार तक 537800 क्विंटल गन्ने की पिराई करके सहकारी चीनी मिलों में नए आयाम को स्थापित किया है। इससे क्षेत्र के गन्ना उत्पादक किसानों में खुशी की लहर है। प्रबंध निदेशक ने बताया कि करनाल मिल द्वारा इस वर्ष 55 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई के साथ 10.25 प्रतिशत औसतन चीनी रिकवरी का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। दी करनाल सहकारी चीनी मिल लिमिटेड करनाल के क्षेत्र में गन्ना मुख्य फसल है। क्षेत्र के किसानों द्वारा पूर्वोत्तर वर्षों में लगभग 55 से 60 लाख क्विंटल गन्ने का उत्पादन किया जाता था। जबकि पूर्वोत्तर में प्रति सीजन मिल की पिराई क्षमता केवल 35 लाख क्विंटल गन्ने की ही थी, जिससे किसानों द्वारा शेष गन्ने को दूसरी मिलों में ले जाना पड़ता था एवं भारी समस्याओं का सामना करना पड़ता था।

खबरें और भी हैं...