पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Haryana
  • Jind
  • No Appointment Of Employees At 36 Sub Health Centers For 4 Years, Civil Surgeon Office Sent Reminders To The Headquarters 43 Times

आखिर कैसे सुधरेंगी स्वास्थ्य सेवाएं:4 साल से 36 उप स्वास्थ्य केंद्रों पर कर्मचारियों की नियुक्ति नहीं, सिविल सर्जन कार्यालय ने 43 बार मुख्यालय को भेजे रिमाइंडर

जींद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सरकार ने करोड़ों रुपए की राशि से जिले में 36 उप स्वास्थ्य केंद्र की बिल्डिंग बना दी, लेकिन 4 साल बाद भी यहां स्टाफ पूरा नहीं हो सका है। चार साल तक बिल्डिंग की हालत खंडहर में तब्दील होती गई। अब जाकर केंद्र सरकार ने एमपीएचडब्ल्यू फीमेल का पद स्वीकृत किया और राज्य सरकार ने अब उनकी नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू की है, लेकिन बाकी बचे स्टाफ एमपीएचडब्ल्यू मेल और चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के पद स्वीकृत नहीं हो सके हैं। सिविल सर्जन कार्यालय द्वारा इन पदों को स्वीकृत करने के लिए स्वास्थ्य सेवाएं मुख्यालय को 43 बार रिमाइंडर भेजे जा चुके हैं। खास बात यह है कि इन 36 में से सबसे ज्यादा 18 उप स्वास्थ्य केंद्र डिप्टी सीएम के विधानसभा क्षेत्र के गांवों में हैं।

सरकार द्वारा बनाए गए नाॅर्म्स के अनुसार पांच हजार तक की आबादी वाले गांवों में उप स्वास्थ्य केंद्र बनाए जाते हैं, जबकि 30 हजार तक की आबादी वाले गांवों में पीएचसी का निर्माण होता है, जिसमें आसपास के कई गांव जुड़े होते हैं। जींद में 36 गांवों में उप स्वास्थ्य केंद्र की बिल्डिंग बने 4 से 5 साल हो चुके हैं लेकिन कर्मचारियों की नियुक्ति नहीं हुई है।

शहर की ढाई लाख आबादी, कर्मी कम

यदि जींद शहर की बात की जाए तो आबादी ढाई लाख से ज्यादा है, लेकिन स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने के लिए मात्र दो महिला एमपीएचडब्ल्यू व 6 पुरुष एमपीएचडब्ल्यू अाैर दो सुपरवाइजर के नियमित पद स्वीकृत हैं। नार्म्स अनुसार 24 महिला एमपीएचडब्ल्यू व 24 पुरुष एमपीएचडब्ल्यू अाैर 8 स्वास्थ्य सुपरवाइजर के नियमित पदों की आवश्यकता है।

जल्द ही जॉइनिंग होंगी

एमपीएचडब्ल्यू फीमेल के पद स्वीकृत हो चुके हैं और राज्य सरकार नियुक्ति कर दी है। जल्द ही उनकी जॉइनिंग होंगी। बाकी पदों के लिए मुख्यालय को पत्र लिखा गया है।
-डॉ. पालेराम कटारिया, डिप्टी सीएमओ, जींद

डिप्टी सीएम, और सांसद को लिखा पत्र ​​​​​​​स्वास्थ्य सुपरवाइजर संघ के प्रदेशाध्यक्ष राममेहर वर्मा ने कहा कि जिले में स्वास्थ्य सेवाएं सुचारAू रूप से चलाने के लिए प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री अाैर उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला सहित जिले के सभी विधायकों व सांसदों को पत्र लिखकर पहले से स्वीकृत स्वास्थ्य केन्द्रों पर एमपीएचडब्ल्यू व स्वास्थ्य सुपरवाइजरों के नए पद स्वीकृत करवाने की मांग की है।

कहां कितने बने हैं उप स्वास्थ्य केंद्र उचाना में 18, नरवाना में 3, जींद में 3, जुलाना में 4 और सफीदों क्षेत्र में 7 उप स्वास्थ्य केंद्र बनाए गए हैं।

खबरें और भी हैं...