पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Haryana
  • Jind
  • Due To Lack Of Budget, The Work Of CM Announcement Stuck, No One's Money Came For Two Years And No One's Demand Was Sent.

सीएम अनाउसमेंट के कार्यों की 30 को होगी समीक्षा:बजट के अभाव में अटके सीएम अनाउंसमेंट के काम, किसी का दो साल से नहीं आया पैसा तो किसी की डिमांड ही नहीं भेजी

जींद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सीएम अनाउसमेंट के विकास कार्यों काे लेकर 30 जून को डीसी डॉ. मनोज कुमार समीक्षा करेंगे। डीसी ने संबंधित विभागाध्यक्षों से उनके अधीन चल रहे सीएम अनाउसमेंट के विकास कार्यों की रिपोर्ट लाने के निर्देश दिए हैं। सीएम अनाउंसमेंट के तहत 8 साल के दौरान 541 घोषणाएं जिले में की गई हैं, जिसमें से अब तक 364 पूरी हो चुकी हैं। यानी 73.09 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है जबकि 8.43 प्रतिशत परियोजनाएं ऐसी हैं, जिन पर पिछले कई सालों से काम शुरू नहीं हो सका है। इनमें इरीगेशन एंड वाटर रिसोर्स डिपार्टमेंट, पीडब्ल्यूडी बीएंडआर, स्थानीय शहरी निकाय, पंचायत विकास, पशुपालन विभाग और एचएसएएमबी शामिल हैं। इन सभी विकास कार्यों को लेकर 30 जून को डीसी द्वारा समीक्षा की जाएगी।

कई काम तो लंबे समय से अटके, जानेंगे कारण

कई ऐसे विकास के काम हैं, जो लंबे समय से चल रहे हैं। लेकिन उनका बजट जारी न होने की वजह से अटक कर रह गए हैं। इनकी कभी समीक्षा की जाएगी। बजट को लेकर मुख्यालय से पत्राचार भी करने के आदेश दिए जाएंगे।

जींद शहर की प्रमुख सीएम अनाउसमेंट की योजनाएं स्वर्ण जयंती पार्क : स्वर्ण जयंती पार्क का निर्माण दो साल से बंद है। लगभग 1 करोड़ 30 लाख खर्च हो चुका है। इतने और की डिमांड भेजी गई है पर दो साल से बजट नहीं मिला है। जो निर्माण हुआ है, वह खराब हो रहा है। शॉपिंग काॅम्प्लेक्स : तीन साल पहले काम शुरू हुआ था, 90 प्रतिशत पूरा हो चुका है। लिफ्ट, फर्नीचर, लाइटिंग व फिनिशिंंग का काम बाकी है। इसके लिए डेढ़ करोड़ चाहिए, लेकिन निकाय चुनाव के चलते भेजी नहीं जा सकी। नगर परिषद कार्यालय : गोहाना रोड परं निर्माण तीन साल से चल रहा है। 75 प्रतिशत से ज्यादा काम हो चुका है। 6 माह और लगने की उम्मीद है

मेडिकल कॉलेज : मेडिकल कॉलेज का निर्माण हैबतपुर में 24 एकड़ भूमि पर किया जा रहा है। 2014 में मुख्यमंत्री ने इसकी घोषणा की थी। दो चरणों में काम होना है। 750 करोड़ के बजट में पहले चरण में 525 करोड़ रुपए खर्च होने हैं। मई 2023 से पहले ही प्रथम चरण का काम पूरा होने की उम्मीद है। कालेज बनने के बाद इसमें 150 विद्यार्थी एमबीबीएस की पढ़ाई कर सकेंगे। इसके साथ ही यहां 750 बिस्तरों वाले अस्पताल बनाया जाना है। छात्र और छात्राओं के लिए छात्रावास, निदेशक निवास, संकाय और कर्मचारियों के लिए निवास बनना है।

घोषणाएं तो हर साल हुईं पर

वर्ष परियोजनाएं 2014 10 2015 44 2016 108 2017 65 2018 177 2019 106 2020 3 2021 1

^30 जून को सीएम अनाउसमेंट के तहत चल रहे सभी विकास कार्यों की समीक्षा की जाएगी। इसके लिए सभी विभागाध्यक्षों को रिपोर्ट लाने के निर्देश दिए गए हैं। डॉ. मनोज कुमार, डीसी, जींद।

खबरें और भी हैं...