पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जेब पर बोझ:बिजली बिलाें के साथ जोड़कर भेजे सैन्ड्री चार्ज ने बढ़ा दी उपभोक्ताओं की टेंशन

हिसारएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बिजली निगम द्वारा बिलाें में प्रति यूनिट टैरिफ बढ़ा दिए गए थे। यह बढ़े हुए टैरिफ अब बिजली बिलाें के साथ जुड़कर उपभाेक्ता ओं के पास पहुंच रहे हैं। उपभाेक्ता काे जाे बिल मिल रहे हैं उनमें सैन्ड्री चार्ज जुड़कर साथ आ रहा है। बिल ज्यादा आने की शिकायतें भी इस माह बढ़ चुकी है।

बिजली निगम द्वारा चुपचाप अप्रैल माह में साल 2022-23 के लिए प्रति यूनिट चार्ज बढ़ा दिए गए थे। यह चार्ज अब बिजली बिलाें के साथ जाेड़े जा रहे हैं। डाॅमेस्टकि और नाॅन डाॅमेस्टकि दाेनाें कैटेगिरी में यह बिजली चार्ज बढ़ाए गए हैं। 100 से 150 यूनिट खर्च करने वाले सभी उपभाेक्ता ओं के बिल बढ़ेंगे, इस कैटेगिरी में पहले 2.50 रुपये प्रति यूनिट टैरिफ था, जिसे बदलकर 2.75 रुपये प्रति यूनिट किया गया है। यह बिल अब तीन माह बाद सैन्ड्री चार्ज के साथ भेजे जा रहे हैं।

क्या हाेता है सैन्ड्री चार्ज : किसी भी तरह का बकाया जाे वर्तमान बिल में जाेड़कर दिया जाता है उसे सैन्ड्री चार्ज कहते हैं। रेट रिवाइज हाेने पर अब इसकाे तीन माह बाद नए बिल के साथ एडजस्ट किया जा रहा है। औसत बिल आ रहा है ताे जब यह सही टाेटल हाेता है ताे वर्तमान बिल के साथ एड हाेगा, इसे भी सैंन्ड्री में जाेड़ा जाएगा। मीटर की खराबी या किसी भी तरह का बिजली निगम का देय सैन्ड्री चार्ज में लगाकर बिल के साथ वसूला जाता है।

ऑफिस बिल के 1543 रुपये ज्यादा भरने पड़ेंगे

कृष्णा नगर के संयम ने बताया कि उसके ऑफिस का इस माह का बिल 3791 रुपये है लेकनि उसके बिल पर 1543 रुपये का सैंन्ड्री चार्ज लगा है, बिल अब 5270 रुपये है। इस बारे में पता करने पर बताया गया कि आपका नाै माह का बिल का बकाया था, जिसे जाेड़कर भेजा गया है। विशाल नगर निवासी विद्या देवी ने बताया कि उनके आवास का बिजली बिल छह हजार से ज्यादा आया है, इसके साथ सैन्ड्री चार्ज भी जुड़ा है।

बिल बढ़ाकर भेजा, जवाब देने में कतरा रहे अफसर

मिलगेट निवासी धर्मेंद्र ने बताया कि घर के बिल के साथ इस बार सैन्ड्री चार्ज जुड़कर कर आया है। बिजली निगम से पता करने पर काेई सही जवाब नहीं मिल रहा। इस तरह राशि बढ़ाने गलत है।

इसलिए हुई देरी : बिजली निगम का बिलिंग से रिलेटिड काम आरएपी डी आरपी सिस्टम पर है। यहां सााॅफ्टवेयर के जरिए बिल जनरेट हाेते हैं। डीएचबीवीएन की शहरी करीब 50 सब डिविजनाें काे इस सिस्टम से जाेड़ा गया है। इसका काम एक एजेंसी के पास है। आरपी डी आरपी से नई सब डिविजनाें काे ऑनलाइन जाेड़ने का काम बीते साल से चल रहा था। इसके कारण नया सर्कुलर नकिलने के बाद नई दराें काे अपलाेड करने में देरी हुई।

बिजली बिल के टैरिफ 2022-23 के लिए रिवाइज किए गए थे। बिजली बिल के साथ सैन्ड्री चार्ज में नए टैरिफ का बकाया भेजा गया है। इसके अलावा भी उपभाेक्ता का जाे पेंडिंग रहता है व सैन्ड्री चार्ज के जरिए वसूला जाता है। किसी उपभाेक्ता काे बिल पर डाउट है ताे वह इसे चैक करवा सकता है।'' -एसएस राॅय, एसई, बिजली निगम।

जानिए... डोमेस्टकि कैटेगिरी में यह किए गए बदलाव

बिजली निगम ने दो सालों में इस तरह बढ़ाई बिजली बिलों पर प्रति यूनिट दर

कैटेगिरी वन 2021-22

यूनिट एनर्जी चार्ज एनर्जी चार्ज

. 0-50 2 रुपये 2 रुपये

. 51-100 2.50 रुपये 2.50 रुपये

कैटेगिरी टू 2022-23

. 0-150 2.50 रुपये 2.75 रुपये

. 151-250 5.25 रुपये 5.25 रुपये

. 251-500 6.30 रुपये 6.30 रुपये

. 501-800 7.10 रुपये 7.10 रुपये

4.03 लाख उपभाेक्ता हैं बिजली निगम के सर्कल में

1.08 लाख उपभाेक्ता हैं हिसार शहर में4.03 लाख उपभाेक्ता हैं बिजली निगम के सर्कल में

1.08 लाख उपभाेक्ता हैं हिसार शहर में

खबरें और भी हैं...