पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वाद-विवाद व पेंटिंग प्रतियोगिता:मिथक- लत होने पर इससे छुटकारे की उम्मीद कम, सच्चाई- इच्छाशक्ति और दवाओं की मदद से संभव

हिसारएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नशे के खिलाफ विद्यार्थियों से संवाद में आईजी ने दी जानकारी

युद्ध-नशे के विरुद्ध मंगलवार काे जिले के 273 सीनियर सेकेंडरी स्कूलाें में विद्यार्थियाें ने वाद-विवाद व पेंटिंग प्रतियोगिता में हिस्सा लेकर भावी पीढ़ी काे नशे से दूर रहने का मैसेज दिया। आईजी रमेश कुमार आर्य जहाजपुल समीप राजकीय माॅडल संस्कृति वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में पहुंचे, जहां उन्हाेंने विद्यार्थियाें से नशे से जुड़े मिथकाें व तर्काें पर संवाद किया और सवाल-जवाब भी किए। विद्यार्थियाें ने वाद-विवाद प्रतियोगिता में बताया कि अभिभावक बड़ी गलती कर रहे हैं कि वे पढ़ाई में कम अंक आने पर बच्चाें पर ऐसा प्रेशर बनाते हैं, जिसके तले दबकर बच्चा नशे का रास्ता चुनता है।

नशे का सेवन कर कुछ समय वह मानसिक तनाव से अपने आपकाे दूर ताे कर लेता है लेकिन इस हाेड़ में वह ऐसा फंस जाता है कि वह अपना भविष्य तक दांव पर लगा देता है। दूसरी बात यह सामने आई कि साेशल मीडिया पर बच्चे या किशाेर अपने आपकाे फेमस करने के लिए ऐसी फाेटाे वायरल करते हैं, जिसमें वह कश लगाकर दूसराें पर इम्प्रेशन बनाने का प्रयास करता है। जाे आगे चलकर उसके लिए नुकसानदेयी साबित हाेती है। इसके अलावा पेंटिंग प्रतियोगिता में विद्यार्थियाें ने नशे के खिलाफ रंग उकेर सभी काे इस बुरी लत से दूर करने के लिए जागरूक किया। कार्यक्रम के तहत समग्र शिक्षा के डीपीसी ज्ञानसिंह व हिसार प्रथम ब्लाॅक के बीईओ विजेंद्र सिंह माैजूद थे।

खबरें और भी हैं...