पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

फैसला:ग्रीन स्क्वेयर मार्केट से हटाया जाए टैक्सी स्टैंड म्यूजिकल फाउंटेन बनाएं, पगडंडी, ग्रीनरीज लगे

हिसारएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ग्रीन स्क्वेयर मार्केट, जहां अक्सर गाड़ियां खड़ी रहती हैं,फाइल फोटो। - Money Bhaskar
ग्रीन स्क्वेयर मार्केट, जहां अक्सर गाड़ियां खड़ी रहती हैं,फाइल फोटो।

करीब 36 साल पहले काटी गई एचएसवीपी की अर्बन एस्टेट वन मार्केट में अलाॅटियाें काे अाज तक पैडस्टल प्लाजा की सुविधा नहीं मिल पाई है। पिछले सात साल से कानूनी लड़ाई लड़ रही रेड व ग्रीन स्क्वेयर मार्केट रेजिडेंट्स वेलफेयर एसाेसिएशन के पक्ष में अब पब्लिक यूटिलिटी काेर्ट ने फैसला सुनाया है।

फैसले में लिखा कि एचएसवीपी काे काेर्ट ने निर्देश दिए हैं कि यहां से टैक्सी स्टैंड व अन्य कब्जे हटाएं जाएं अाैर वर्षाें पहले इस सेक्टर की जाे प्लानिंग की गई थी उसी नक्शे के अनुरूप इसे डिवेलप किया जाए। मामले काे लेकर एसाेसिएशन की तरफ से वर्ष 2015 में काेर्ट में केस डाला गया था। केस की पैरवी बार एसाेसिएशन के पूर्व प्रधान सुरेंद्र ढुल ने की। जिसमें हाल ही में फैसला एसाेसिशन के पक्ष में अाया है। एसाेसिएशन के पदाधिकारियों ने खुशी जाहिर की है। साथ ही यह भी कहा है कि काेर्ट के आदेश लागू कराने काे लेकर वे जल्द ही एचएसवीपी के अधिकारियों से भी मिलेंगे। मामले काे लेकर एसाेसिएशन के पदाधिकारियों ने प्रधान प्रवीण गुप्ता की अध्यक्षता में मीटिंग की।

प्रधान गुप्ता ने कहा कि ये केस 2015 में मार्केट में पैडस्टल प्लॉजा बनाने और यहां खड़ी होने वाली टैक्सियां हटवाने के लिए डाला गया था। उन्हाेंने बताया कि इस मामले में न्यायालय ने प्रशासन एचएसवीपी को निर्देश दिए गए हैं कि मार्केट में खड़ी होने वाली अवैध गाड़ियों, कबाड़ी आदि को कॉमर्शियल अर्बन एस्टेट-1 मार्केट से हटाया जाए। उन्हाेंने बताया कि काेर्ट ने आदेश दिए हैं कि ग्राउंड में पैडस्टल प्लाजा (म्यूजिकल फव्वारा, पगडंडी, ग्रीनरीज सहित घूमने, मीटिंग आदि के लिए) व सभी मूलभूत सुविधाएं दी जाए। काेर्ट ने इसके लिए संबंधित विभाग को जल्द कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

वर्ष 1985-86 में काटी गई थी रेड व ग्रीन स्क्वेयर मार्केट जिसे नाम दिया था अर्बन एस्टेट वन

फैसले के बाद व्यापारियों ने की मीटिंग फैसले के बाद एसाेसिएशन की जनरल बाॅडी मीटिंग हुई जिसमें अनिल जैन, प्रदीप गोयल, दर्शन खुराना, डाॅ. खेतरपाल, संजय व राकेश ठकराल, पार्षद पति सुशील शर्मा, डाॅ. मैनन, विनीत वधवा, संदीप, सीए सुभाष जैन, संजय वर्मा, प्रमोद मित्तल, राजेश गोयल, कमलेश, मुकेश सेहरा, सुमित मित्तल, नरेश महता, नीतिन आहूजा, सुनील गुप्ता एडवोकेट माैजूद रहे।

खबरें और भी हैं...