पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • After Five Years, The Fountains Of The Town Park Were Fixed, The Reapers Thrown By The People Themselves Picked Up, 7 Trolley Garbage Removed

हुडा के ईओ काैथ की पहल:पांच साल बाद टाउन पार्क के फव्वारे ठीक करवाए, लाेगों द्वारा फेंके गए रेपर खुद उठाए, 7 ट्राॅली कचरा निकलवाया

हिसारएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
टाउन पार्क में सुबह फेंके गए रेपर उठाते हुए एस्टेट ऑफिसर राजेश काैथ व स्टाफ सदस्य। शाम के समय फव्वाराें का निरीक्षण करते हुए ईओ। - Money Bhaskar
टाउन पार्क में सुबह फेंके गए रेपर उठाते हुए एस्टेट ऑफिसर राजेश काैथ व स्टाफ सदस्य। शाम के समय फव्वाराें का निरीक्षण करते हुए ईओ।

एचएसवीपी के नए एस्टेट ऑफिसर ने पिछले कई सालाें से बदहाल पड़े टाउन पार्क की व्यवस्था सुधारने काे लेकर अच्छी शुरुआत की है। एस्टेट ऑफिसर राजेश काैथ ने टाउन पार्क की हालत सुधारने के लिए सेहत सफाई व साैहार्द की पहल करते हुए वाॅलिंटियर्स, स्टाफ व इंजीनियरिंग विंग के अधकिारियाें के सहयाेग से खुद सफाई करने के लिए सुबह सवा छह बजे टाउन पार्क पहुंचे।

ईओ ने माैके पर पिछले पांच साल से बंद पड़े पार्क के फव्वारे काे ठीक कर चालू कराया। खुद ने कूड़ा उठाना शुरू किया। माैके से सामान के रेपर, स्ट्राॅ, कुल्फी स्टकि, पाॅलीथिन उठाना शुरू किया। उनकाे देखकर साथ पहुंची टीम ने भी कूड़ा उठाना शुरू कर दिया। करीब 9 बजे तक अधकिारियाें व उनकी टीम ने हाथाें से एक ट्राॅली कूड़ा एकत्रित कर दिया। उन्हाेंने बाद में स्टाफ काे निर्देश दिए कि यहां से सारा कूड़ा उठाया जाए। एचएसवीपी यानी हुडा की टीम ने देर शाम तक 7 ट्राॅली कूड़ा बाहर नकिाला। उन्हाेंने टाॅयलेट इत्यादि कीे हालत भी देखी।

इंजीनियरिंग विंग के अधकिारियाें काे टाॅयलेट इत्यादि की हालत सुधारने के भी निर्देश दिए गए। पार्क की ऐसी हालत देखने के बाद शाम साढ़े पांच बजे फिर से ईओ ने अधकिारियाें के साथ दाैरा किया। टीम ने देखे कि आखिर यहां कचरा क्याें फैल रहा है। अधकिारियाें ने पार्क में और डस्टबिन रखवाने काे लेकर भी मंथन किया।

इच्छाशक्ति से समाधान संभव... सुबह से शाम तक दस घंटे में बदली बदहाल पार्क की स्थिति, डटबिन भी रखे जाएंगे

माली से बाेले ईओ, मेरी काेठी में हरी घास, यहां क्यों नहीं

पार्क में सूखी घास देख माली काे बुलाकर ईओ राजेश काैथ ने सवाल किया कि मेरी काेठी में हरी घास है फिर यहां क्याें नहीं। इस पर माली ने कहा कि साहब यहां पानी नहीं दिया जा रहा क्याेंकि इसके लिए पाइप ही नहीं है। ईओ ने जेब से रुपए नकिाले और उसे दे दिए कहा कि पाइप ले आओ।

खबरें और भी हैं...