पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ससुर सुसाइड केस में 5 साल की कैद:टोहाना के चंदड़कलां में दामाद से परेशान होकर व्यक्ति ने दी थी जान

फतेहाबाद4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Money Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।

हरियाणा के फतेहाबाद में अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश जीएस वधवा की कोर्ट ने ससुर को आत्महत्या के लिए मजबूर करने के दोषी दामाद को 5 साल की कैद की सजा सुनाई है। कोर्ट ने उस पर 10 हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई है। 31 जुलाई 2016 को चंदड़कलां ​​​​​​​की अमरजोत कौर ने अपने पति सिमरनजीत सिंह निवासी मोगा के खिलाफ केस दर्ज कराया था।

टोहाना पुलिस को दी शिकायत में अमरजोत कौर ने बताया कि उसका विवाह 30 नवंबर 2013 को सिमरनजीत सिंह के साथ हुआ था। शादी के बाद से ही उसके पति उसे कम दहेज लाने के लिए तंग करने लगे। 19 अगस्त 2015 को उसके पति ने उससे मारपीट की और वह किसी तरह से बच बचाकर अपने मायके आ गई।

इसके बाद उसके पिता परेशान रहने लगे और उन्होंने उसका घर बसाने के लिए उसके ससुरालपक्ष के साथ कई बार पंचायतें की। पंचायतों में उसके पिता की बेइज्जती की गई, जिससे आहत होकर उसके पिता ने 30 जुलाई 2016 को लाइसेंस पिस्तौल से अपनी कनपटी पर गोली मारकर आत्महत्या कर ली।

आत्महत्या से पहले अमरजोत कौर के पिता ने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा था, जिसमें उसने सिमरनजीत सिंह को आत्महत्या के लिए मजबूर करने का आरोपी बताया था। कोर्ट ने मामले की सुनवाई करते हुए दोषी सिमरनजीत सिंह को 5 साल की कैद और 10 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई।