पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हाईवे पर चल रहा फर्जीवाड़े का खेल:रोड टैक्स लेकर पकड़ा रहे भर्जी रसीद, अंबाला में RTA ने बस पकड़ी तो हुआ खुलासा

अंबाला3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आराेपी के मोबाइल में फर्जी रसीद की फोटो।

दिल्ली-चंडीगढ़ हाईवे पर टैक्स माफिया वाहन चालकों से रोड टैक्स जमा करने के नाम पर सरकार को चूना लगा रहे हैं। हाईवे पर स्थित इन बूथों पर ऑनलाइन रोड टैक्स भुगतान की आड़ में बड़ा फर्जीवाड़ा किया जा रहा है। टैक्स की राशि लेकर वाहन चालकों को फर्जी रसीद दिए जाने का खुलासा हुआ है।

करनाल-कुरुक्षेत्र के बीच कटवाया था टैक्स, अंबाला में बस पकड़ी तो हुआ खुलासा

18 मई की सुबह करीब सवा 6 बजे अंबाला के RTA ने आंध्रप्रदेश नंबर की एक बस की चेकिंग की थी। बस चालक ने टीम को अपनी टैक्स की रसीद दिखाई। जांच करने पर खुलासा हुआ कि वह रसीद फर्जी है। कार्रवाई करते हुए RTA ने बस का 61 हजार 500 रुपए का जुर्माना भी लगाया। हालांकि विभाग की ओर से 50 हजार रुपए माफ किए गए।

सरकार को करोड़ों का लगाया जा रहा चूना

RTA अंबाला रमित यादव ने बताया कि फर्जी रसीद का खुलासा होने के बाद वह बस चालक को अपनी गाड़ी में बैठाकर करनाल की तरफ गए, लेकिन बस चालक को सही लोकेशन बारे पता नहीं था। चालक ने बताया था कि वहां से अंबाला कैंट 66 किमी था। उसी आधार पर वह कुरुक्षेत्र-करनाल के बीच एक पेट्रोल पंप के निकट पहुंचे। यहां एक फर्जी बूथ चलाया जा रहा था, जो हिमाचल, पंजाब, यूपी, उत्तराखंड, आंध्र प्रदेश सहित अन्य प्रदेशों से पहुंचने वाले वाहन चालकों को फर्जी टैक्स रसीद देकर सरकार को चूना लगा रहे हैं।

RTA टीम ने बूथ संचालक को दबोचा, गिरोह कर रहा फर्जीवाड़ा

RTA रमित यादव ने बताया कि उनकी टीम ने आरोपी बूथ संचालक अजय को मौके से काबू कर लिया। वहां जांच करने पर सामने आया कि वह बस चालक से 1250 रुपए वसूल करते थे और अपने गिरोह के सदस्य के पास बस नंबर और चालक का नाम भेजते थे। वहां से फर्जी रसीद की एक पीडीएफ आती थी, जिसे बस चालक को दिया जाता था। उन्होंने आरोपी के मोबाइल में कई नंबर लिए हैं, जो इस गिरोह से जुड़े हैं।

पुलिस ने विभिन्न धाराओं के तहत किया मुकदमा दर्ज

थाना पड़ाव पुलिस ने RTA विभाग के सचिव की शिकायत पर आरोपी के खिलाफ धारा 420, 467, 468, 471 व 120बी के तहत केस दर्ज जांच शुरू कर दी है। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।