पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Gujarat
  • The Atmosphere Was Disturbed By Throwing Glass Bottles And Pelting Stones, The Police Arrested 7 Including The Woman

सूरत में दो गुटों में बवाल:कांच की बोतल फेंकने और पथराव करने से बिगड़ा माहौल, पुलिस ने महिला समेत 7 को गिरफ्तार किया

सूरतएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कार की टक्कर लगने से शुरू हुआ था बवाल। - Money Bhaskar
कार की टक्कर लगने से शुरू हुआ था बवाल।

सूरत के नानपुरा में मंगलवार को देर रात कार से टक्कर लगने के मुद्दे पर दो गुट आमने-सामने आ गए। भीड़ ने पथराव कर कांच की बोतलें भी फेंकी। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस हरकत में आ गई। पुलिस कमिश्नर अजय तोमर भी मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने कुछ ही देर में स्थिति को नियंत्रण में ले लिया। अठवा लाइंस पुलिस ने दोनों पक्षों की शिकायत पर 18 लोगों के खिलाफ दंगा भड़काने (रायोटिंग) का केस दर्ज किया है।

महिला समेत 7 गिरफ्तार
पुलिस एक महिला समेत 7 लोगों को गिरफ्तार कर पूछताछ कर रही है। जानकारी के अनुसार नानपुरा झींगा सर्किल के पास खंडेरावपुरा-रुदरपुरा लापसीवाला की चाल के पास मंगलवार को देर रात जियाबेन कार लेकर घर जा रही थी। निखिल कहार खान बेकरी के पास खड़ा होकर दोस्त का इंतजार कर रहा था। इसी बीच जियाबेन की कार से उसे टक्कर लग गई। इसके बाद दोनों में झगड़ा होने लगा। देखते ही देखते लोगों की भीड़ जमा हो गई और दो गुट आमने-सामने आ गए। भीड़ ने पथराव के साथ कांच की बोतलें भी फेंकी।

महिला समेत 3 लोग घायल
मारपीट की घटना से पूरे इलाके में अफरा-तफरी मच गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने इलाके में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी। हमले में एक महिला समेत 3 लोग घायल हो गए। भीड़ ने कार में तोड़फोड़ की। पुलिस ने निखिल कहार की शिकायत पर जियाबेन, आदिल, फैजल, अकरम, फैयाज, केजर, रसीद के बेटे टारजन समेत भीड़ के खिलाफ केस दर्ज किया। दूसरी ओर जियाबेन की शिकायत पर निखिल कहार, ध्रुप पटेल, अभी, भाविक, विंकी, मंदा, विरल, लोली, कांचा समेत के खिलाफ केस दर्ज किया है।

रात में देर तक दुकानें खुली रहने से बढ़ रहे हैं अपराध
रात में देर तक पान और नाश्ते की दुकानें खुली रहने से अपराध बढ़ रहे हैं। अपराधी और असामाजिक तत्व यहां अड़ंगा जमाए बैठे रहते हैं। इसमें से कई लोग नशे की हालत में भी होते हैं। इस वजह से झगड़ा होने की आशंका अधिक होती है। पुलिस रात में देर तक खुली रहने वाली पान और नाश्ते की दुकानों को बंद करके अपराधों को रोक सकती है।

खबरें और भी हैं...