पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59599.81-0.83 %
  • NIFTY17809-0.72 %
  • GOLD(MCX 10 GM)480700.26 %
  • SILVER(MCX 1 KG)633193.1 %
  • Business News
  • Local
  • Gujarat
  • This Treadmill Will Protect The Heart From The Risk Of Excessive Workouts, It Will Also Improve Heart Stamina, Speed Balance And Walking Patterns

आईआईटी गांधीनगर का इनोवेशन:ज्यादा वर्कआउट से दिल को होने वाले खतरे से बचाएगी ये ट्रेडमिल, दिल की सहनशक्ति, गति संतुलन और चलने के पैटर्न भी सुधारेगी

अहमदाबादएक महीने पहलेलेखक: धारा राठौड़
  • कॉपी लिंक
ओवरएक्सरसाइज यानी जरूरत से ज्यादा वर्कआउट के खतरों से ज्यादातर लोग अनजान हैं। - Money Bhaskar
ओवरएक्सरसाइज यानी जरूरत से ज्यादा वर्कआउट के खतरों से ज्यादातर लोग अनजान हैं।

ओवरएक्सरसाइज यानी जरूरत से ज्यादा वर्कआउट के खतरों से ज्यादातर लोग अनजान हैं। जिम में या घरों पर वर्कआउट करने के दौरान वे अक्सर ये गलती कर बैठते हैं। इसके चलते कार्डियक अरेस्ट या अटैक जैसी समस्या हो जाती है और जान जोखिम में पड़ जाती है। हाल में कई हस्तियों के साथ ऐसा ही हुआ। आईआईटी गांधीनगर ने इस खतरे के लिए अलर्ट करने वाला इनोवेशन तैयार करने में सफलता हासिल कर ली है।

ओवर वर्कआउट के जोखिम को कम करने के लिए इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की प्रोफेसर उत्तमा लाहिड़ी और उनकी टीम ने एआई एनेबल्ड वर्चुअल रियलिटी बेस्ड ट्रेडमिल प्लेटफॉर्म पीट्रेडएक्स तैयार किया है। इस इनोवेशन से दिल की सहनशक्ति, गति संतुलन और चलने के पैटर्न में भी सुधार हो सकता है। साथ ही एडप्टिव, प्रोग्रेसिव और इमर्सिव व्यायाम अनुभव देता है। यह जिम और ट्रेडमिल यूजर्स के साथ-साथ ऐसे रोगियों के लिए बहुत उपयोगी है, जिन्हें चलने में समस्या है।

इसका वीआर बेस्ड इमर्सिव टास्क मॉड्यूल रियल टाइम में यूजर का कार्डिएक लोड मॉनिटर करता है और बिना तनाव दिए कार्डियक एंड्यूरेंस सुधारता है। यूजर की फिजियोलॉजी को समझकर एक्सरसाइज टारगेट तय करने में मदद करता है। इसका एआई मॉड्यूल वर्चुअल स्क्रीन पेश करता है। इसमें एक अवतार होता है, उसकी चलने/दौड़ने की स्पीड यूजर के समान होती है।

यह अवतार यूजर को प्रदर्शन के आधार पर ऑडियो-विजुअल फीडबैक देता रहता है। यह प्लेटफॉर्म यूजर को क्षमता के अनुसार एक मध्यम व्यायाम प्रणाली का पालन करने में मदद करता है, जिससे ओवर वर्कआउट के कारण चोटों या मौत का जोखिम घटाया जा सकता है। आईआईटी गांधीनगर ने इसके पेटेंट के लिए आवेदन कर दिया है।

जल्द यह कॉमर्शियली उपलब्ध होगी। प्रो. लाहिड़ी ने बताया कि जो लोग ट्रेनर की गैरमौजूदगी या घर पर वर्कआउट करते हैं, उनके लिए यह आदर्श है। पूर्व रिसर्च स्टूडेंट धवल सोलंकी की रिसर्च की मदद इस प्लेटफॉर्म में ली गई है। प्रोजेक्ट में डिजाइन और इनोवेशन सेंटर की प्रो. मानसी कनेतकर, डिजाइनर नीरव पटेल और जूनियर रिसर्च फेलो आनंद चौहान की भी अहम भूमिका रही।

ट्रेडमिल में मिलने वाले इंडिकेशन

  • इंटेलिजेंट स्ट्रैटजी जनरेटर मॉड्यूल
  • चैलेंजर मॉड्यूल
  • ट्रैकर मॉड्यूल
  • वियरेबल फिजियोलॉजी मॉनिटर।