पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Gujarat
  • Priyanka, Who Conquered 5 Peaks Of 8000 Meters, Went For Trekking On Mountains And Forts, Interest Arose From There

प्रियंका मोहिते का इंटरव्यू:8000 मीटर की 5 चोटियां फतह करने वाली प्रियंका पहाड़ों-किलों पर ट्रेकिंग के लिए जातीं, वहां से रुचि जागी

अहमदाबादएक महीने पहलेलेखक: अली असगर देवजानी
  • कॉपी लिंक
प्रियंका मोहिते ने कहा- कंचनजंघा में आखिरी 200-300 मीटर काफी कठिन थे। - Money Bhaskar
प्रियंका मोहिते ने कहा- कंचनजंघा में आखिरी 200-300 मीटर काफी कठिन थे।

महाराष्ट्र की प्रियंका मोहिते 8000 मीटर से ऊपर की 5 चोटियां फतह करने वाली पहली भारतीय महिला हैं। सातारा की 30 साल की प्रियंका ने हाल ही में 8586 मी.की कंचनजंघा चोटी पर पहुंचकर रिकॉर्ड बनाया। प्रियंका 2013 में माउंट एवरेस्ट, 2018 में माउंट लाहोत्से, 2019 में माउंट मकालू और 2021 में माउंट अन्नपूर्णा पर चढ़ाई कर चुकी हैं। प्रियंका को 2020 में तेनजिंग नोर्गे अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था। पेश हैं उनसे बातचीत के अंश

8 हजार मीटर से ऊंची 5 चोटियों पर चढ़ने वाली पहली भारतीय महिला बनकर कैसा लगा?
यह मेरे लिए बहुत अच्छा अनुभव है। हालांकि मेरा लक्ष्य अभी भी बहुत बड़ा है। मैं दुनिया की 8000 मीटर से ऊपर की सभी चोटियां फतह करना चाहती हूं। यह चुनौतीपूर्ण है। मेरा ध्यान अब मानसलू, धौलागिरी और
शीशपंगमा पर है।

आप सातारा से हैं, जो सात पहाड़ियों से घिरा हुआ है। क्या इससे आपको पर्वतारोही बनने में दिलचस्पी हुई?
मुझे इतिहास में बहुत दिलचस्पी है और मैं छत्रपति शिवाजी से प्रेरित हूं। मेरे चाचा उनकी कहानी सुनाते थे। वे मुझे किलों और पहाड़ों पर ट्रेकिंग के लिए ले जाते थे। तभी से मुझे पर्वतारोही बनने की रुचि जागी। इतिहास और महल ने मुझे जीवन में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया।

समुद्र तल से 8586 मीटर की ऊंचाई पर कंचनजंघा की चोटी पर पहुंचकर आपको कैसा लगा?
अद्भुत अनुभव हुआ, क्योंकि कंचनजंघा की ऊंचाई तक पहुंचने में हमें 20-22 घंटे लगे। आखिरी 200-300 मीटर की चढ़ाई बहुत तकनीकी थी।

आपने 2013 में माउंट एवरेस्ट फतह किया, अब यहां। अनुभव कैसा रहा?
एवरेस्ट और अन्य पहाड़ बहुत अलग हैं। अन्नपूर्णा को घातक पर्वत भी माना जाता है। कंचनजंघा की चोटी तक पहुंचने में हमें लगभग 20-22 घंटे लगे जबकि एवरेस्ट पर चढ़ने में 12 घंटे लगे थे।