पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57276.94-1 %
  • NIFTY17110.15-0.97 %
  • GOLD(MCX 10 GM)48432-0.52 %
  • SILVER(MCX 1 KG)62988-1.1 %
  • Business News
  • Local
  • Gujarat
  • Private Operators Will Be Able To Fix The Fare Along With Modifying The Coach, Show Religious And Historical Places

भारत गौरव ट्रेनें चलाने पश्चिम रेलवे की तैयारी शुरू:निजी ऑपरेटर कोच मोडिफाई करने के साथ किराया भी तय कर सकेंगे, धार्मिक और ऐतिहासिक स्थल दिखाएंगी

सूरत2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ट्रेन को चलाने के लिए निजी ऑपरेटरों, मार्ग और पर्यटन सर्किट की तलाश की जा रही है। - Money Bhaskar
ट्रेन को चलाने के लिए निजी ऑपरेटरों, मार्ग और पर्यटन सर्किट की तलाश की जा रही है।

पश्चिम रेलवे ने भारत गाैरव ट्रेन चलाने के लिए तैयारियां शुरू कर दी हैं। ट्रेन को चलाने के लिए निजी ऑपरेटरों, मार्ग व पर्यटन सर्किट की तलाश की जा रही है। निजी ऑपरेटरों के लिए दिशा-निर्देश जारी कर दिए गए हैं। ऑपरेटर कम से कम 14 और ज्यादा से ज्यादा 20 कोच के रेक लीज पर ले सकते हैं। उन्हें किराया तय करने के लिए छूट दी जाएगी।

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुमित ठाकुर ने बताया कि मुख्य वाणिज्य प्रबंधक (यात्री सेवाएं), नोडल अधिकारी, मुख्य यात्री परिवहन प्रबंधक (सीपीटीएम) और मुख्य रोलिंग स्टॉक इंजीनियर (कोचिंग) की एक समिति पश्चिम रेलवे पर भारत गौरव ट्रेनों के संचालन से संबंधित सभी मुद्दों का समाधान करेगी। क्षेत्रीय स्तर पर एक ग्राहक सहायता इकाई भी गठित की गई है।

देशभर के पर्यटन सर्किटों पर चलेंगी भारत गाैरव ट्रेनें
रेल मंत्रालय ने भारत की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत और शानदार ऐतिहासिक स्थलों को प्रदर्शित करने के लिए ‘भारत गौरव ट्रेनें’ शुरू की हैं। ये ट्रेनें विभिन्न पर्यटन सर्किटों पर चलेंगी। पंजीकृत सेवा प्रदाता ‘भारत गौरव ट्रेनों’ को ‘राइट टू यूज’ मॉडल के तहत संचालित करेंगे। देशभर में कुल 180 भारत गौरव ट्रेनें चलाई जाएंगी।

भारत गौरव ट्रेन में ऑपरेटर अन्य पार्टी के विज्ञापन भी प्रदर्शित कर सकता है

  • निर्माता से नए कोच सीधे खरीदे जा सकेंगे। ऑपरेटर अपने हिसाब से कोच मोडिफाई कर सकता है।
  • थीम, मार्ग और यात्रा कार्यक्रम तय करने में स्वतंत्रता दी जाएगी
  • ऑपरेटर यात्रियों से वसूले जाने वाले किराया तय करने में स्वतंत्र होंगे।
  • आवंटन पहले आओ, पहले पाओ के आधार पर होगा।
  • ऑपरेटर न्यूनतम 14 और अधिकतम 20 कोच वाले रेक का संचालन कर सकता है।
  • रेकों की उपलब्धता न्यूनतम दो वर्ष की अवधि और अधिकतम रेक की लाइफ तक के लिए है।
खबरें और भी हैं...