पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Market Watch
  • SENSEX48690.8-0.96 %
  • NIFTY14696.5-1.04 %
  • GOLD(MCX 10 GM)475690 %
  • SILVER(MCX 1 KG)698750 %
  • Business News
  • Price Of Diamond Property Decreased By 30% In Mumbai, Rose By 15% In Surat; 70 Companies Left Mumbai

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सूरत के डायमंड बुर्स से ग्राउंड रिपोर्ट:सूरत मूव कर रहीं मुंबई की डायमंड कंपनियां, प्रॉपर्टी के दाम 15% बढ़े; इन्क्वायरी के लिए हर हफ्ते आ रहीं हजार से ज्यादा कॉल

सूरत3 महीने पहलेलेखक: लवकुश मिश्रा, गौरव तिवारी
  • कॉपी लिंक
सूरत के खजोद में 6 लाख स्क्वेयर फीट क्षेत्र में 2400 करोड़ रुपए की लागत से ये बुर्स तैयार किया जा रहा है। - Money Bhaskar
सूरत के खजोद में 6 लाख स्क्वेयर फीट क्षेत्र में 2400 करोड़ रुपए की लागत से ये बुर्स तैयार किया जा रहा है।

खजोद में बन रहे दुनिया के सबसे बड़े डायमंड बुर्स यानी सराफा ने गुजरात की आर्थिक राजधानी सूरत की तस्वीर बदल दी है। अगले साल जून 2022 से यहां हीरा व्यापार की शुरुआत हो जाएगी। 6 लाख स्क्वेयर फीट क्षेत्र में 2400 करोड़ रुपए की लागत से ये बुर्स तैयार किया जा रहा है।

2021 के अप्रैल-मई से यहां ऑफिस के पजेशन दिए जाने शुरू हो जाएंगे और दिसंबर तक यह बनकर तैयार हो जाएगा। डायमंड बुर्स शुरू होने की डेट जैसे-जैसे नजदीक आ रही है, वैसे-वैसे मुंबई से बड़े पैमाने पर हीरा व्यापारी सूरत आने लगे हैं। एक अनुमान के मुताबिक, सूरत में प्रॉपर्टी की इन्क्वायरी के लिए मुंबई बेस्ड व्यापारियों की हर हफ्ते एक हजार से ज्यादा कॉल आ रही हैं।

स्कायलैंड ग्रुप के बिल्डर पीयूष शेटा ने बताया कि सूरत में प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन के लिए दो सप्ताह की वेटिंग है। हमारी भी कोशिश है कि यहां पर लोगों को मुंबई जैसी सुविधाएं और वातावरण मुहैया कराएंं।

मुंबई की 70 डायमंड कंपनियां सूरत शिफ्ट

कोरोनाकाल से अब तक मुंबई से लगभग 70 डायमंड कंपनियां सूरत आ चुकी हैं, जबकि अगले तीन से पांच सालों में यहां लगभग 500 से ज्यादा डायमंड कंपनियों के आने की उम्मीद है। सूरत में डायमंड बुर्स के साथ इंटरनेशनल एयरपोर्ट और निर्माणाधीन बुलेट ट्रेन के कारण डायमंड कंपनियां मुंबई से कारोबार समेट कर सूरत स्थाई हो रही हैं।

सूरत की ज्यादातर डायमंड कंपनियों का कॉर्पोरेट हेड ऑफिस नए बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स (हीरा बुर्स) में है। यहां के बोरिवली, मलाड, गोरेगांव, दहिसर जैसे इलाकों में डायमंड कंपनियों के यूनिट्स हैं।

सूरत में अपार्टमेंट की प्रति वर्ग फीट की कीमत 10% से 15% बढ़ीं

एरिया6 महीने पहले (रुपए में)अब (रुपए में)
वेसू4,5006,500
अलथान4,0006,000
सरथाणा4,5006,000
पिपलोद7,0008,000
मोटा वराछा4,0005,500

जून 2022 तक शुरू हो जाएगा कारोबार, एक साथ काम करेंगे 50 हजार से ज्यादा कर्मचारी

डायमंड बुर्स के वाइस चेयरमैन आशीष दोशी ने बताया कि जून 2022 तक बिजनेस शुरू हो जाएगा। उन्होंने बताया कि बुर्स के निकट ही मेट्रो स्टेशन बन रहा है, जिससे पीक अवर्स में 25 हजार लोग सफर करेंगे। बुर्स कैंपस में एक साथ 50 हजार कर्मचारी काम करेंगे।

क्षेत्रवार फ्लैट की कीमत में ऐसे हुआ इजाफा

एरियाफ्लैटएक साल पहले कीमतअब
वारछाटू बीएचके35 लाख40-50 लाख
थ्री बीएचके50 लाख

60-90 लाख

अलथाणटू बीएचके50 लाख60 लाख
थ्री बीएचके80 लाख90 लाख से 1.50 करोड़
अडाजणटू बीएचके60 लाख70-90 लाख
थ्री बीएचके90 लाख1 करोड़
कतारगामटू बीएचके40 लाख50 लाख
थ्री बीचएके50 लाख65 लाख
वेसूथ्री बीएचकेयहां प्राइज करोड़ से ऊपर हैं--

डायमंड बुर्स से सरकार व मनपा की आय बढ़ेगी

वर्ग फीटदुकानेंकुल कीमतप्रॉपर्टी टैक्सजीएसटी टैक्स
3002,760662.4 करोड़68.34 लाख7.95 करोड़
5001,100440 करोड़40 लाख5.28 करोड़
1,000525420 करोड़25.97 लाख5.04 करोड़
1500-10000284340 करोड़9.72 लाख4.08 करोड़
कुल1.44 करोड़22.35 करोड़

शिफ्ट होने वाले 90% लोग मुंबई के, 12 से 22 मंजिला इमारतें बन रहीं

मोटा वराछा मिनी सौराष्ट्र के रूप में जाना जाता है। यहां लगभग एक साथ 63 से ज्यादा प्रोजेक्ट निर्माणाधीन हैं, जिसमें 5 हजार से ज्यादा फ्लैट बनाए जा रहे हैं। यहां मुंबई से हीरा व्यापारी 90% हैं। मोटा वराछा तापी के किनारे है और यहीं तापी रिवर फ्रंट भी बनाया जा रहा है। इसको ध्यान में रखकर यहां 12 से 22 मंजिला इमारतें बनाई जा रही हैं।

मोटा वराछा के नामचीन डेवलपर्स धवल ढोला और कल्पेश ककड़िया ने बताया कि हम अपने प्रोजेक्ट में मुंबई की तर्ज पर सुविधाएं दे रहे हैं। जमीन की कीमत बढ़ी हैं और किराया भी बढ़ा है।

खबरें और भी हैं...