पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Gujarat
  • Parents And Younger Sister Died In Front Of The Eyes Of 12 Year Old Daughter, Three Children Became Orphans

हलवद नमक फैक्ट्री हादसा:12 साल कीबेटी की आंखों के सामने ही माता-पिता और छोटी बहन की मौत, तीन बच्चों हुए अनाथ

मोरबीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भरवाड फैमिली के तीनों बच्चे, जिनके सिर से माता-पिता का साया उठ चुका है। - Money Bhaskar
भरवाड फैमिली के तीनों बच्चे, जिनके सिर से माता-पिता का साया उठ चुका है।

मोरबी जिले के हलवद में एक नमक कारखाने की दीवार गिरने से पांच महिलाओं समेत 12 मजदूरों की मौत हो गई है। मृतकों में एक ही परिवार के 6 और दूसरे परिवार के तीन लोग शामिल हैं। ये तीनों (माता-पिता और बेटी) कल ही अपने गांव से लौटे थे और आज सुबह ही हादसे का शिकार हो गए। अब इनके परिवार में तीन बच्चे बचे हैं, जिनके सिर से माता-पिता का साया उठ चुका है।

आशा भरवाड (12) साल फैक्ट्री में अपने माता-पिता और छोटी बहन (6) के साथ ही मौजूद थी।
आशा भरवाड (12) साल फैक्ट्री में अपने माता-पिता और छोटी बहन (6) के साथ ही मौजूद थी।

बड़ी बेटी के सामने ही हुई तीनों की मौत
हादसा दोपहर के करीब 12 बजे हुआ। इस दौरान आशा भरवाड (12) साल फैक्ट्री में अपने माता-पिता और छोटी बहन (6) के साथ ही मौजूद थी। लेकिन हादसे के वक्त वह दीवार से कुछ दूर थी। इसलिए उसकी जान बच गई। आशा ने अपनी आंखों के सामने ही माता-पिता और छोटी बहन की मौत होते देखी।

दीवार के मलबे में करीब 30 मजदूर दब गए थे।
दीवार के मलबे में करीब 30 मजदूर दब गए थे।

मलबे में दब गए थे 30 मजदूर
दीवार के मलबे में करीब 30 मजदूर दब गए थे। मृतकों और घायलों को जेसीबी मशीन की मदद से निकाला गया। घायलों को शहर के अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती करवाया गया है। इनमें कईयों की हालत गंभीर है, जिससे मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका व्यक्त की जा रही है।

कई मजूदर खाना खाने चले गए थे
हादसे के करीब आधा घंटे पहले तक यहां 40 से ज्यादा मजदूर नमक की पैकिंग कर कर रहे थे। इनमें से कई खाना खाने बाहर चले गए थे। नहीं तो और मजदूरों की मौत हो जाती। कंपनी के कुछ श्रमिकों से मिली जानकारी के अनुसार हादसे का शिकार हुए मजदूर राधनपुर तहसील के गांवों के रहने वाले हैं।

हादसे का शिकार हुए मजदूर राधनपुर तहसील के गांवों के रहने वाले हैं।
हादसे का शिकार हुए मजदूर राधनपुर तहसील के गांवों के रहने वाले हैं।

हादसे पर पीएम मोदी ने दुख जताया
इस हादसे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख जताया है। पीएम ने अपने ट्वीट में कहा कि मोरबी में दीवार गिरने की घटना काफी दुख पहुंचाने वाली है। दुख की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं पीड़ित परिवारों के साथ हैं। पीएम ने हादसे में घायलों के शीघ्र ठीक होने की कामना की है। उन्होंने कहा कि स्थानीय प्रशासन प्रभावित लोगों की हर संभव मदद कर रहा है।

मृतकों के परिवार को 4-4 लाख रुपए की मदद
गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने हादसे पर शोक जताते हुए मृतकों के परिवार को मुख्यमंत्री राहत कोष से चार-चार लाख रुपए की सहायता राशि देने का ऐलान किया है। वहीं, घायलों को 50-50 हजार रुपए और उनका पूरा इलाज मुफ्त करवाए जाने की भी घोषणा की है।