पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रोजगार:आत्मघाती कदम उठाने को मजबूर युवा : शोरी

सुकमा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

छत्तीसगढ़ में बेरोजगारी के मुद्दे पर कांग्रेस व विपक्ष आमने-सामने की लड़ाई पर उतर आई है। मुख्यमंत्री के लोकवाणी के प्रसारण में दिए आंकड़ों को लेकर भाजपा ने इसे फर्जी करार दिया है। भाजपा नेताओं का कहना है कि सरकार बेरोजगारी भत्ता देने में ही विफल रही है। भाजयुमों प्रदेश उपाध्यक्ष दीपिका शोरी का कहना है कि प्रदेश के युवा सड़कों पर उतरकर रोज़गार मांग रहे हैं। शिक्षक भर्ती से लेकर सब इंसपेक्टर तक कई भर्तियां रुकी हुई हैं।

दूसरी तरफ कांग्रेस सरकार अपनी पीठ थपथपाने का कार्य कर रही है। उन्होेंने कहा कि प्रदेश में बेरोजगारी का आलम यह है कि कोरबा जिले के रामपुर चौकी क्षेत्र के पौड़ी बहार में 28 वर्षीय युवती ने एमए तक पढ़ाई की थी। पढ़ाई के बाद से वह प्रतीयोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रही थी। लेकिन नौकरी नहीं मिल रही थी। आखिरकार उसने बेरोजगारी से तंग आकर 12 जनवरी को आत्मघाती कदम उठा लिया। शोरी ने कहा परिजनों को सरकार से 50 लाख मुआवजा देने की मांग की। इसके साथ ही राज्य के युवाओं को 2500 रुपए बेरोजगारी भत्ता की भी मांग की है।

खबरें और भी हैं...