पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59005.270.88 %
  • NIFTY175620.95 %
  • GOLD(MCX 10 GM)463320.4 %
  • SILVER(MCX 1 KG)602350.53 %

इतना महंगा वीआईपी वैक्सीनेशन रूम:फर्नीचर किराया 10 हजार रुपए रोजाना, हेल्थ और स्मार्ट सिटी में पेमेंट का मुद्दा फंसा, वीआईपी टीका कक्ष से सोफा-कुर्सी हटाए

रायपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पं. जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज में वीआईपी वैक्सीनेशन कक्ष में अब वीआईपी के लिए सोफा-कुर्सी या टेबल नहीं रहेंगे। यहां स्मार्ट सिटी के टेंडर के बाद अच्छा फर्नीचर रखवाया गया था, ताकि यहां वीआईपी का बेहतर व्यवस्था के साथ टीकाकरण हो सके। प्रदेश के अधिकांश रसूखदारों को टीका इसी कक्ष में लगा है, लेकिन मामला तब उलझ गया जब फर्नीचर का भारी-भरकम बिल बना और स्मार्ट सिटी तथा स्वास्थ्य विभाग, दोनों ने इसके पेमेंट से मना कर दिया।

विवाद इतना बढ़ गया कि गुरुवार को वीआईपी टीकाकरण कक्ष से सारे फर्नीचर हटा लिए गए। टीकाकरण कक्ष चालू रहेगा, लेकिन यह स्पष्ट नहीं है कि अब भी इसे वीआईपी टीकाकरण केंद्र की तरह कैसे चलाया जाएगा। वीआईपी टीकाकरण कक्ष इसी साल मार्च में शुरू हुआ था, जब प्रदेश में टीकाकरण अभियान प्रारंभ किया गया। इसे मेडिकल कालेज के चौथे माले पर खोला गया और एक लिफ्ट भी रिजर्व की गई।

प्रदेश के लगभग सभी वीआईपी ने यहां टीका लगवाया। इसे ध्यान में रखते हुए पहले दिन से ही इस टीकाकरण कक्ष में अच्छा फर्नीचर रखवाया गया था। फर्नीचर का टेंडर स्मार्ट सिटी ने किया था। टेंडर लेने वाले ने इसे दूसरे को सबलेट कर दिया। यहां फर्नीचर किराया 10 हजार रुपए रोज हुआ था। इस लिहाज से मार्च से अब तक इस कक्ष के लिए फर्नीचर किराया ही 15 लाख रुपए से ऊपर चला गया है।

सेंटर में इस्तेमाल फर्नीचर का बिल बढ़ा, तब छिड़ा विवाद
मामला चर्चा में तब आया, जब फर्नीचर के बिल तैयार होना शुरू हुए। भारी भरकम किराए की वजह से हेल्थ विभाग ने स्पष्ट कर दिया कि सेटअप उनका नहीं था। उनकी जानकारी में भी नहीं है, इसलिए वह किराया नहीं देंगे। इसके तुरंत बाद स्मार्ट सिटी ने भी स्पष्ट कर दिया कि टीकाकरण अभियान स्वास्थ्य विभाग का है। उनकी सुविधा के लिए स्मार्ट सिटी ने टेंडर करके कक्ष को सेट कर दिया, लेकिन बिल का भुगतान उनकी जिम्मेदारी नहीं है। इसके बाद विवाद गहरा गया, क्योंकि अब तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि फर्नीचर का पेमेंट कहां से होगा?

  • वीआईपी टीकाकरण केंद्र से फर्नीचर हटाने की जानकारी मिली है। ज्यादातर वीआईपी दोनों डोज लगा चुके हैं। वैक्सीनेशन सेंटर चालू रहेगा, लेकिन किस तरह चलेगा यह अभी स्पष्ट नहीं है। - डॉ. ओंकार खंडवाल, टीकाकरण नोडल
खबरें और भी हैं...