पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59005.270.88 %
  • NIFTY175620.95 %
  • GOLD(MCX 10 GM)463320.4 %
  • SILVER(MCX 1 KG)602350.53 %
  • Business News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • Covid Vaccination; Chhattisgarh Will Get Only 19.90 Lakh Doses In The Month Of August, The Health Minister Asked If There Is No Weapon Then How Will The Fight Happen

बनी रहेगी टीके की किल्लत:अगस्त माह के लिए कोवीशील्ड के 17 लाख 45 हजार 890 व कोवैक्सिन की 2.45 लाख डोज; स्वास्थ्य मंत्री बोले-हथियार नहीं होंगे, तो लड़ाई कैसे होगी

रायपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
छत्तीसगढ़ में कोरोना टीकाकरण अभियान टीकों की कमी से जूझ रहा है। प्रत्येक तीन-चार दिनों बाद टीकाकरण केंद्रों पर टीका खत्म हो जाता है। - Money Bhaskar
छत्तीसगढ़ में कोरोना टीकाकरण अभियान टीकों की कमी से जूझ रहा है। प्रत्येक तीन-चार दिनों बाद टीकाकरण केंद्रों पर टीका खत्म हो जाता है।

छत्तीसगढ़ में कोरोना टीकाकरण अभियान रुक-रुक कर जारी है। 21 जून से टीका उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी केंद्र सरकार ने ली है, लेकिन समय से उपलब्धता बड़ी चुनौती बन गई है। केंद्र सरकार ने अगस्त महीनों के लिए राज्यवार कोटा आवंटित कर दिया है। छत्तीसगढ़ को केवल 19 लाख 90 हजार 890 डोज आवंटित हुआ है। यह जरूरत के हिसाब से बेहद कम है। स्वास्थ्य मंत्री ने टीएस सिंहदेव ने इस पर गहरी नाराजगी जताते हुए भाजपा पर निशाना साथा है। पूछा कि- हथियार ही नहीं होंगे, तो लड़ाई कैसे होगी।भाजपा स्पष्ट करे।

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने अपने आधिकारिक सोशल मीडिया एकाउंट के जरिए बताया, केंद्र सरकार ने अगस्त के लिए छत्तीसगढ़ को 19 लाख 90 हजार 890 डोज टीका आवंटित किया है। इसमें कोवीशील्ड की 17 लाख 45 हजार 890 डोज और कोवैक्सिन की 2 लाख 45 हजार डोज शामिल हैं। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, छत्तीसगढ़ में 3.5 से 4 लाख डोज प्रतिदिन लगाने की क्षमता है। हर महीने एक करोड़ डोज लगाए जा सकते हैं। अगर हमें कोरोना से लड़कर हराना है तो टीकों की उपलब्धता की यह दर बेहद कम है।

जुलाई में भी 20 लाख डोज ही मिले
जुलाई महीने में भी जैसे-तैसे करके करीब 20 लाख डोज टीके आए है। इनमें से अधिकतर कोवीशील्ड हैं। टीकों की संख्या बढ़ाने के लिए सरकार पत्राचार कर रही है। पिछले महीने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर एक करोड़ डोज की मांग की थी। केंद्र सरकार के अफसरों का कहना है कि टीकों का उत्पादन कम है, ऐसे में सभी राज्यों को आनुपातिक आवंटन किया जा रहा है।

कल तक 1.18 लोगों को लग चुका था टीका
देश में गुरुवार तक एक करोड़ 18 लाख 78 हजार से अधिक टीके लगाए जा चुके थे। इनमें से 96 लाख 24 हजार 588 लोगों को इसका पहला टीका और 22 लाख 53 हजार 843 को दोनों टीके लगाए जा चुके। प्रदेश में तीन लाख नौ हजार 203 स्वास्थ्य कर्मियों, तीन लाख 17 हजार 010 फ्रंटलाइन वर्कर्स, 45 वर्ष से अधिक के 50 लाख 91 हजार 753 और 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के 39 लाख छह हजार 622 नागरिकों को कोरोना से बचाव का पहला टीका लगाया जा चुका है।

दो लाख 44 हजार 653 स्वास्थ्य कर्मियों, दो लाख 26 हजार 034 फ्रंटलाइन वर्कर्स, 45 वर्ष से अधिक के 16 लाख 52 हजार 878 तथा 18 से 44 आयु वर्ग के एक लाख 30 हजार 278 लोगों को दोनों टीके लगाए जा चुके हैं।

खबरें और भी हैं...