पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

छत्तीसगढ़ में इस साल 76 नए आत्मानंद अंग्रेजी स्कूल:अकेले रायपुर में ही 12 स्कूल खुलेंगे, एक जुलाई से शुरू होगा दाखिला

रायपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

छत्तीसगढ़ में इस सत्र से 76 नए स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल खुलने के लिए तैयार हैं। इन नए स्कूलों में विद्यार्थियों का दाखिला एक जुलाई से शुरू हो जाएगा। अकेले रायपुर जिले में ही 12 स्कूल खोले जा रहे हैं। इन नए स्कूलों के खुल जाने से प्रदेश में स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूलों की संख्या 171 से बढ़कर 247 हो जाएगी।

स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने बताया कि सभी 76 नए स्कूलों को शुरू किए जाने को लेकर शिक्षा अधिकारियों को निर्देश जारी कर दिए गए हैं। उन्होंने बताया पिछले सालों में शुरू किए गए स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी स्कूलों को लेकर जनता का रुझान बढ़ा है। मुख्यमंत्री के विधानसभावार भ्रमण एवं भेंट-मुलाकात के दौरान बड़ी संख्या में पेरेंट्स और बच्चे अंग्रेजी माध्यम स्कूल की मांग अपने इलाकों में करते रहे हैं। पेरेंट्स और बच्चों के अनुरोध पर मुख्यमंत्री ने राज्य में 50 और नए अंग्रेजी माध्यम स्कूल खोलने की घोषणा करने के साथ ही अपने ट्वीटर हैण्डल से भी इसकी जानकारी दी थी। विधानसभा क्षेत्रों के भेंट-मुलाकात के दौरान लोगों की मांग पर मुख्यमंत्री ने 26 और नए अंग्रेजी माध्यम स्कूल खोलने की घोषणा की थी। मुख्यमंत्री की मंशा और उनकी घोषणा के अनुरूप 76 नए स्कूल खोले जा रहे है।

रायपुर में यहां होंगे स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी स्कूल

रायपुर में सर्वाधिक 12 स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम विद्यालय और शुरू किए जा रहे हैं। ये स्कूल मोवा, लालपुर, शांतिनगर, गुरूनानक चौक, मोहबा बाजार, सरोना, मंदिर-हासौद, समोदा, गोबरा-नावापारा, सारागांव, तिलकनगर गुढ़ियारी और बीरगांव में खुलेंगे।

दूसरे जिलों में यहां बनेंगे नए अंग्रेजी

1.बिलासपुर - लाल बहादुर हायर सेकेण्डरी स्कूल, अंबेडकर स्कूल और तिलकनगर।

2.कोरबा - पोड़ी उपरोड़ा ब्लॉक के पसान, कोरबी और बालको।

3.कोरिया - नवापारा पोड़ी, पिपरडांड बैकुण्ठपुर और केलहारी।

4.कोण्डागांव – मरदापाल, कोण्डागांव और कोनगुड़।

5.कांकेर – सरोना।

6.कबीरधाम - कचहरी पारा कवर्धा।

7.बलौदा बाजार - सरसींवा, सुहेला, भंटगांव, लवन।

8.रायगढ़ – कोड़ातराई।

9.राजनांदगांव – साल्हेवारा।

10.धमतरी - गोकुलपुर और चर्रा (कुरूद)।

11.बीजापुर - कुटरू और मद्देड़।

12.बालोद - नयापारा राजहरा, गुण्डरदेही, देवरीबंगला।

13.बस्तर - करन्दोला (भानपुरी), धरमपुरा, बकावण्ड एवं नानगुर।

14.बेमेतरा - सिंघौरी, साजा, थान खम्हरिया और देवारबीजा।

15.बलरामपुर - रामचंद्रपुर, डौरा एवं चलगली।

हिंदी माध्यम से पढ़ाई भी जारी रहेगी

स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने कहा, इन विद्यालयों में हिन्दी माध्यम से पढ़ाई पहले की तरह जारी रहेगी। हिन्दी माध्यम के शिक्षकों का पहले से स्वीकृत सेटअप भी पहले की तरह बना रहेगा। हिन्दी माध्यम के विद्यार्थियों के प्रवेश हेतु निश्चित संख्या निर्धारित नहीं की गई है। विद्यालय अपनी आवश्यकता एवं क्षमता अनुसार प्रवेश दे सकेंगे। विद्यालयों का संचालन आवश्यकतानुसार दो पालियों में किए जा सकेंगे। राज्य में 32 स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट हिन्दी माध्यम विद्यालय भी संचालित है।

खबरें और भी हैं...