पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX60821.62-0.17 %
  • NIFTY18114.9-0.35 %
  • GOLD(MCX 10 GM)476040.47 %
  • SILVER(MCX 1 KG)650340.55 %

भर्ती पर सवाल:स्वास्थ्य विभाग में भर्ती परीक्षा का पेपर 60-60 हजार में बिका, सीधी नौकरी के लिए 3 लाख मांगे

कांकेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • परीक्षा से पहले पर्चा खरीदी-बिक्री के लिए अभ्यर्थियों और दलाल के बीच हुई बातचीत रिकॉर्ड

स्वास्थ्य विभाग में चार प्रकार के पदों में भर्ती के लिए आयोजित की गई परीक्षा से पहले ही दलालों ने उसके पेपर आउट कर दिए। एक-एक प्रकार के पद के पेपर के लिए 41 से 60 हजार रुपए में डील की गई। दलाली कर रहे लोगों ने कुछ अलग अलग अभ्यर्थियों से फोन पर ही इसकी डील कर ली। जिसकी कुछ रिकॉर्डिंग भास्कर के पास मौजूद है।

इसमें ही पेपर की खरीदी बिक्री की पूरी जानकारी देने के साथ ही प्रशासन के सरकारी अधिकारी कर्मचारियों के होने की भी बात कही गई है। लेकिन ये कर्मचारी स्वास्थ्य विभाग से बाहर के हैं, जिनके द्वारा भर्ती परीक्षा के लिए पेपर सेट करना बताया गया है।

इतना ही नहीं, इस भर्ती प्रक्रिया में यह बात भी सामने आई है कि दक्षिण बस्तर में पदस्थ एक चतुर्थ वर्ग श्रेणी का सरकारी कर्मचारी भी अलग से दलाली करते इसमें संलिप्त है, जो परीक्षा के दौरान से दलाली करने अवकाश लेकर कांकेर जिला में आया हुआ है। जो सीधे पद में भर्ती के लिए भर्ती समिति से अपनी सांठगांठ होने का हवाला देकर अभ्यर्थियों से तीन लाख रुपए मांग रहा है।

इसकी भी कॉल रिकॉर्डिंग अभ्यर्थियों ने कर रखी है। ऑडियो सामने आने के बाद भर्ती प्रक्रिया में की जा रही गड़बड़ी तो सामने आ गई है लेकिन इसमें कौन कौन अधिकारी कर्मचारी शामिल हैं उन्हें सामने लाने के लिए पूरे मामले की बारीकी व गंभीरता से निष्पक्ष जांच की जरूरत है।

17 सितंबर को हुई चारों पद के लिए लिखित परीक्षा

स्टाफ नर्स, लेब टेक्नीशियन, फार्मासिस्ट तथा ड्रेसर की संविदा भर्ती के लिए 11 अगस्त 2020 को विज्ञापन निकाला गया था। 31 अगस्त तक आवेदन लिए गए। लेकिन कोरोना के चलते साल भर बाद 1 अगस्त 2021 को पात्र अपात्र की सूची निकाल 16 अगस्त तक दावा आपत्ति मंगाए गए थे। 8 सितंबर को अंतिम सूची निकाली गई। जिसके बाद 17 सितंबर को कॉलेज में पद के अनुरूप लिखित परीक्षा आयोजित की गई है। इसी परीक्षा के प्रश्न पत्रों को बेचने दो दिन पहले से दलाल सक्रिय होकर पात्र अभ्यर्थियों से संपर्क करने लगे।

ये हैं दलाल व पात्र अभ्यर्थियों के बीच हुई डीलिंग की बातें

अभ्यर्थी नंबर 1

  • अभ्यर्थी- डीएमएफ की भर्ती का कुछ जुगाड़ है क्या?

दलाल- तुम्हारे पास तो जुगाड़ है क्या? अभी तो बोल रहे थे जुगाड़ है?

  • अभ्यर्थी- नहीं है सर।

दलाल- अरे जब पैसा देगा तभी वह पेपर देगा।

  • अभ्यर्थी- कितना लगेगा?

दलाल- 50 से 60 हजार रुपए बोल रहे हैं। 30 प्रश्न मिलेंगे।

  • अभ्यर्थी- माइनस मार्किंग होगी क्या?

दलाल- ये तो पूछा नहीं हूं। लेकिन पेपर मिल जाएगा।

  • अभ्यर्थी- टोटल कितना लगेगा?

दलाल- 50 से 60 हजार रूपए। तुम्हारे स्टॉफ वाले लोग भी दिए हैं क्या?

  • अभ्यर्थी- मुझे पता नहीं।

दलाल- पेपर दे रहे हैं। इसमें 30 के 30 प्रश्न पूरे होंगे। अभी रात भर है। लेकिन पैसा देना पड़ेगा।

  • अभ्यर्थी- सर मेरे पास पैसे नहीं है।

दलाल- इसीलिए तो पहले पूछा था। तब कह रहे थे मेरे पास जुगाड़ है।

  • अभ्यर्थी- आपको कैसे पता चला कि पेपर मिल रहा है?

दलाल- जो पेपर बना रहा है वो ही बताया है। उन लोग पहले से प्लानिंग किए हांेगे।

  • अभ्यर्थी- आपको कैसे पता चला?

दलाल- अन्य जिले में मेरा दोस्त ही पेपर बना रहा है।

  • अभ्यर्थी- बिना पैसा के पेपर नहीं मिल पाएगा?

दलाल- नहीं ऐसे कैसे मिलेगा, मैं 50 तक करा दूंगा।

अभ्यर्थी नंबर 2

  • अभ्यर्थी- सर मुझे पेपर चाहिए।
  • दलाल- तो पैसा तो लगता है न?
  • अभ्यर्थी- तो पेपर मिल जाएगा?
  • दलाल- हां। पैसा भिजवा देंगे तो तुरंत वाट्सअप में भेज देंगे।
  • अभ्यर्थी- कितना पैसा चाहिए?
  • दलाल- 50 से 60 हजार रुपए बोला है।
  • अभ्यर्थी- फोन पे या गूगल पे कैसे करना पड़ेगा?
  • दलाल- हां ऑनलाइन करना पड़ेगा।
  • अभ्यर्थी- उसको कैसे पता चलेगा?
  • दलाल- सामने वाले को। उसको मैं बताऊंगा । वो मेरा दोस्त है।
  • अभ्यर्थी- अच्छा अन्य जिले वाले को? क्या वो भी सीएमएचओ विभाग में है?
  • दलाल- नहीं वो भी सरकारी कर्मचारी है, अन्य जिले में।
  • अभ्यर्थी- इसका सीएमएचओ ऑफिस से कांटेक्ट होगा।
  • दलाल- हां पूरा। उनका पूरा जुगाड़ है यार।
  • अभ्यर्थी- ठीक है घर वालों से पैसा मांगता हूं।

अभ्यर्थी नंबर 3

  • अभ्यर्थी- सर अन्य जिले वाले को जो बोल रहे थे उसका नाम क्या है?
  • दलाल- नाम नहीं पता। वह दोस्त है। पहचान है।
  • अभ्यर्थी- अभी कोई जुगाड़ हो सकता है?
  • दलाल- पूछना पड़ेगा।
  • अभ्यर्थी- उसका किससे संपर्क है, कलेक्टर से या सीएमएचओ से?
  • दलाल- पूछ कर बताऊंगा।

दलाल से बातचीत में सरकारी कर्मचारी का जिक्र
अभ्यर्थियों से बात कर रहा दलाल बार बार इशारा कर रहा है कि इसमें सरकारी कर्मचारी भी शामिल है। जिन्हें ही पैसा देने पर ही पेपर मिलेगा। इसके बाद भी पूरी सेटिंग हो जाएगी। दलाल ने ऑडियो में अन्य जिले के एक सरकारी कर्मचारी के शामिल होने की बात कही है।

विशेष- भर्ती या अन्य मामले में इस तरह दलाल या कोई अन्य रकम की डिमांड कर रहा है तो दस्तावेज व कॉल रिकार्डिंग व सबूत सहित भास्कर के मोबाइल नंबर 9424288477 पर संपर्क करें।

खबरें और भी हैं...