पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

किसानों ने स्टेट हाईवे 25 पर किया चक्काजाम:कांकेर- पखांजुर मुख्यमार्ग 5 घंटे से बंद; धान खरीदी केंद्र खोलने की मांग

जगदलपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
धान उपार्जन केंद्र खोलने की मांग को लेकर किसानों ने चक्का जाम किया है।

छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में किसानों ने अपनी मांगों को लेकर स्टेट हाईवे में चक्काजाम कर दिया है। पिछले 5 घंटे से कांकेर-पखांजूर मुख्य मार्ग पूरी तरह से बंद है। सड़क की दोनों तरफ वाहनों के लंबी कतार लग चुकी है। फिलहाल प्रशासन और पुलिस किसानों को जाम खोलने के लिए मना रही है। इधर, किसानों का कहना है कि जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं होती है तब तक वे धरना स्थल से नहीं उठेंगे।

दरअसल, जिले के कोंडे गांव के सैकड़ों किसान शनिवार की सुबह लगभग 11 बजे से गांव में ही सड़क पर बैठ गए हैं। किसानों ने गांव में धान उपार्जन केंद्र खोलने की मांग की है। किसान गेंदलाल साहू और रूपधर ने बताया कि पिछले कई सालों से प्रशासन से गांव में ही धान उपार्जन केंद्र खोलने की मांग कर रहे हैं। लेकिन हमारी समस्या का समाधान नहीं किया जा रहा है। मजबूरी में 17 से 18 किमी की दूरी तय कर धान बेचने दुर्गुकोंदल जाना पड़ता है। ऐसे में किसान काफी परेशान हो जाते हैं।

कई ट्रकें भी जाम में फंसी हैं।
कई ट्रकें भी जाम में फंसी हैं।

2 हजार रुपए देते हैं किराया
किसानों ने कहा कि, ट्रैक्टर या फिर अन्य कोई भी वाहन में धान लेकर जब वे दुर्गुकोंदल जाते हैं तो वाहन मालिक 1800 से 2000 रुपए लेते हैं। वाहन में चाहे 5 बोरी धान हो या 500 उनका किराया तय है। किसानों ने कहा कि यदि हमारे गांव में ही केंद्र खुल जाता है तो हमें इतना किराया देकर दुर्गुकोंदल जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। अपने धान को गांव में बेच सकेंगे।

धान खरीदी से पहले बवाल:किसानों ने 5 घंटे तक रायपुर-देवभोग मार्ग में किया चक्काजाम; कांग्रेसी बोले-सरकार हमारी ही नहीं सुन रही

सड़क की दोनों तरह वाहनों की लंबी कतार लगी हुई है।
सड़क की दोनों तरह वाहनों की लंबी कतार लगी हुई है।

एक सप्ताह में मांग नहीं हुई पूरी तो देंगे धरना
किसानों ने कहा कि, अपनी मांगों को लेकर फिलहाल वे एक दिवसीय चक्का जाम कर रहे हैं। देर शाम तक जाम खोलने के मूड में नहीं हैं। उन्होंने शासन-प्रशासन को सीधी चेतावनी दी है की यदि आने वाले 1 सप्ताह में मांग पूरी नहीं की जाती है तो ये अनिश्चितकालीन धरने पर बैठ जाएंगे।तहसीलदार आशीष देहारी भी चक्काजाम खोलने के लिए किसानों को पिछले कई घंटे से समझाइश दे रहे हैं।

खबरें और भी हैं...