पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भेंट-मुलाकात:दो साल में टूटा नदी का स्टॉप डैम, सीएम बोले- जांच कराएं और नया डैम बनवाएं

कोंडागांव/फरसगांवएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
महिला समूहों के लिए चेक सौंपते सीएम। - Money Bhaskar
महिला समूहों के लिए चेक सौंपते सीएम।

भेंट-मुलाकात कार्यक्रम के तहत कोंडागांव विधानसभा क्षेत्र के बाद केशकाल विधानसभा क्षेत्र के बड़ेडोंगर पहुंचे सीएम भूपेश बघेल ने भंवरडीह नाले पर स्टॉप-डैम बनाने की घोषणा की। इसके साथ ही पहले बने स्टॉप-डैम के दो सालों में ही ढह जाने के मामले में उन्होंने जांच के निर्देश भी दिए।

किसानों ने जनचौपाल में सीएम से शिकायत करते सिंचाई के लिए जुगानी में बनाया गया स्टॉप डैम दो सालों में ही टूट जाने की बात कही थी। सीएम ने इस दौरान कहा कि राज्य सरकार की न्याय योजनाओं का पैसा सीधे हितग्राही के खाते में भेजे जा रहे हैं।

इससे बैंकिंग सिस्टम की जरूरत ग्रामीणों को महसूस हो रही है। यही कारण है कि बड़ेडोंगर में उन्होंने सहकारी बैंक की शाखा खोलने की घोषणा की। बड़ेडोंगर पहुंचे सीएम ने मां दंतेश्वरी मंदिर पहुंच माता की पूजा की। इस दौरान मंत्री कवासी लखमा, सांसद दीपक बैज, फूलोदेवी नेताम, विधायक संतराम नेताम सहित अन्य मौजूद थे।

समर कैंप में बच्चों से मिलने पहुंचे सीएम
अपने व्यस्त कार्यक्रम के चलते 28 मई को केशकाल विधानसभा जाने से पहले 12 बजे प्रेसवार्ता लेने के बाद जब मुख्यमंत्री को पता चला कि पास ही बच्चों का समर कैंप चल रहा है। इसके बाद वे सारे प्रोटोकॉल तोड़ सीधे बच्चों से मिलने पहुंचे। बच्चे भी अचानक मुख्यमंत्री को देख खुश हो गए। मुख्यमंत्री बच्चों के बीच 10 मिनट रहे और उनके साथ सेल्फी ली।

कोंडागांव विधानसभा क्षेत्र के भैंसगांव पहुंचे सीएम भूपेश बघेल ने जनचौपाल लगाई, जहां लखापुरी की अजोबती ने अपनी व्यथा सुनाई। अजोबती ने कहा कि सरकार ने उसे नौकरी दी और नक्सल पीड़ित होने के चलते पुनर्वास का फायदा भी मिला है।

उपतहसील कार्यालय में देखी व्यवस्थाएं
पिछले साल 27 जनवरी को सीएम भूपेश बघेल ने बड़ेडोंगर को उपतहसील बनाने की घोषणा की थी, जिसके अगले ही महीने से यहां कार्यालय का काम शुरू कर दिया गया। शनिवार को पहुंचे सीएम ने उपतहसील पहुंचकर हालचाल जाना।

सिंचाई पंपों के लिए बिजली कनेक्शन दें
आमगांव के 39 ग्रामीणों ने सिंचाई पंप के लिए बिजली मांगी तो सीएम ने कनेक्शन देने के निर्देश दिए। कोरई के ओबीसी वर्ग के लोगों ने पट्‌टा नहीं मिलने की बात कही, जिस पर उन्होंने नियमानुसार पट्‌टा दिलाने कलेक्टर के निर्देश दिए।