पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सब्जी मंडी के शेड पर दूसरे कारोबारियों का कब्जा:किसान रोड किनारे सब्जी बेचने के लिए हुए मजबूर

जशपुरनगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शहर की सब्जी मंडी में सब्जी विक्रेताओं के लिए बने शेड पर दूसरे कारोबारियों ने कब्जा कर लिया है। इससे ग्रामीण सब्जी विक्रेताओं को अपनी दुकान लगाने की जगह नहीं मिल रही है। रविवार को कई सब्जी विक्रेताओं को बाजार स्थल पर दुकान लगाने की जगह ही नहीं दी।

दूसरे कारोबारियों ने कई सब्जी विक्रेताओं की सजी हुई दुकानों को उठवाकर वापस भेज दिया। इस स्थान पर अपनी दुकानेें सजाकर कब्जा जमा चुके वही कारोबारी हैं जिन्हें हाल ही में कीर्तन भवन के बाजू से हटाया गया था।

कीर्तन भवन के बाजू व पुराना बजारडांड़ में सैकड़ों की संख्या में अवैध दुकानें सज रहीं थीं। राजस्व अमले ने इस स्थान से अवैध दुकानों को हटाने की प्लानिंग पहले से तैयार की थी। इन दुकानों से पुरानीटोली सड़क पर बार-बार लग रहे जाम को देखते हुए कई बार पालिका द्वारा सड़क किनारे से दुकानों को हटाने की कोशिश की थी, पर कुछ दिन तक व्यवस्था सही रहने के बाद दुकानें वापस अपनी जगह पर चली जाती थी। कुछ दिन पहले जब खुलेआम मौमांस बिक्री की घटना को लेकर शहर में बवाल मचा तो आनन-फानन में अवैध दुकानों को हटवाकर जगह खाली कराई गई।

जहां सब्जियां की दुकानें लगतीं थी वहां बेल्ट व चश्मे की दुकानें, रोजाना हो रहा विवाद

शहर के विवेकानंद कॉलोनी में पुराना भट्‌ठी के सामने सब्जी की मंडी बनी है। यहां पर सब्जी विक्रेताओं के लिए पालिका द्वारा शेड का निर्माण किया गया है। ताकि सब्जी विक्रेता शेड के नीचे बैठकर अपनी सब्जियां बेच सकें। इस सब्जी मंडी में बीते तीन दिनों से कपड़े, राशन, बैग बेल्ट चश्मा, घड़ी, सौन्दर्य प्रसाधन सहित अन्य दुकानें लग गई हैं।

रविवार व गुरूवार शहर के साप्ताहिक बाजार का दिन रहता है। साप्ताहिक बाजार के दिन ग्रामीण इलाकों के सब्जी विक्रेता अपने उत्पाद लेकर पहुंचते हैं। इस रविवार को जब ग्रामीण सब्जी विक्रेता पहुंचे तो उन्हें उनकी दुकान वाली जगह पर पहले से दुकान सजा हुआ मिला। इसे लेकर बाजार में विवाद की स्थिति भी पैदा हुई। पर गांव के लोगों पर दूसरे कारोबारी हावी रहे।

सड़क किनारे दुकान संचालित, बारिश के दौरान किसान और ग्राहक दोनों होंगे परेशान

अधिकांश सब्जी विक्रेताओं ने शेड छिनने के बाद सड़क किनारे सब्जियों की दुकानें लगानी शुरू कर दी है। बस स्टैण्ड से विवेकानंद कॉलोनी जाने वाली मुख्य सड़क के दोनों ओर सब्जियों की दुकानें लग रही हैं। ग्रामीण सब्जी विक्रेताओं को सड़क किनारे या पेड़ के नीचे बैठकर सब्जियां बेचनी पड़ रही है।

ऐसी स्थिति में बरसात के दिनों में ग्रामीण सब्जी विक्रेताओं को और ज्यादा परेशानी होगी। सब्जी विक्रेताओं के साथ-साथ ग्राहकों को भी परेशानी होगी, क्योंकि शुरुआती बारिश में जिले में गाज का खतरा काफी ज्यादा होता है। यदि पेड़ के नीचे सब्जियों की दुकान रहेगी तो कुछ दिन पूर्व बगीचा ब्लॉक में हुई घटना की पुनरावृत्ति जशपुर में होने का खतरा भी है।

शिफ्टिंग का किसानों को लाभ नहीं मिला
कीर्तन भवन के बाजू से अवैध कब्जे में बनी दुकानों के हटने के बाद मछली व मटन के मार्केट को करबला राेड में मजार के पास शिफ्ट कर दिया गया है। मांस कारोबारी अब वहां चले गए हैं और अन्य दुकानदारों ने सब्जी मंडी की शेड पर कब्जा कर लिया है। सब्जी विक्रेता भटक रहे हैं।

सब्जी मंडी से अवैध कब्जे हटाए जाएंगे
एसडीएम बीएल भगत ने बताया कि सब्जी मार्केट में किसी भी दुकानदार को जगह नहीं दी गई है। यदि वहां अन्य दुकानें लग रही हैं तो उन्हें वहां से हटाया जाएगा। वह जगह सिर्फ सब्जियों की दुकान के लिए है। कीर्तन भवन के पास केे कारोबारियों के लिए नई जगह की जा सकती है।

खबरें और भी हैं...