पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रायगढ़-रायपुर, जांजगीर-चांपा का संपर्क टूटा:महानदी खतरे के निशान से ऊपर, गांव बने टापू, हेल्पलाइन नंबर जारी; अंबिकापुर में सड़क के साथ बह गया ट्रक

जांजगीर-चांपा/रायगढ़/अंबिकापुर/जशपुर/बिलासपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

छत्तीसगढ़ में लगातार तीन दिन से हो रही बारिश के चलते हालात बिगड़ने लगे हैं। महानदी उफान पर है। रायगढ़ का रायपुर, जांजगीर-चांपा और सारंगढ़ से संपर्क टूट गया है। जांजगीर-चांपा और बलौदाबाजार मार्ग भी बंद है। दर्जनों गांव टापू में तब्दील हो गए हैं। प्रशासन की ओर से SDRF की मदद ली जा रही है। अंबिकापुर में एप्रोच रोड के साथ ही एक ट्रक भी बह गया है। जशपुर स्थित खरकट्‌टा बांध से रिसाव के चलते आसपास के गांवों में खतरा मंडराने लगा है। दूसरी ओर मौसम विभाग ने एक बार फिर अलर्ट जारी किया है।

रायगढ़ के चंद्रपुर सहित कई इलाकों में बारिश के चलते बाढ़ के हालात हैं। ऐसे में लोगों को राहत शिविर में शिफ्ट किया जा रहा है।
रायगढ़ के चंद्रपुर सहित कई इलाकों में बारिश के चलते बाढ़ के हालात हैं। ऐसे में लोगों को राहत शिविर में शिफ्ट किया जा रहा है।
शिवरीनारायण में शबरी पुल पर महानदी का पानी 3 फीट ऊपर तक बह रहा है। पुल के दोनों ओर बैरिगेट्स लगा आवागमन बंद कर दिया गया है।
शिवरीनारायण में शबरी पुल पर महानदी का पानी 3 फीट ऊपर तक बह रहा है। पुल के दोनों ओर बैरिगेट्स लगा आवागमन बंद कर दिया गया है।

शबरी सेतु पर 3 फीट पानी, आसपास के गांवों में कराई गई मुनादी
जांजगीर-चांपा में पिछले 6 दिनों से लगातार बारिश हो रही है। इसके कारण नदी-नाले उफान पर आ गए हैं। मंगलवार और बुधवार को महानदी का जलस्तर करीब 10 फीट बढ़ गया है। शनिवार रात 9 बजे महानदी का पानी शबरी पुल के ऊपर आया गया। फिलहाल पुल पर 3 फीट पानी है। पुल के दोनों ओर बैरिगेट्स लगा आवागमन बंद कर दिया गया है। प्रशासन ने मुनादी करा कर आसपास के गांवों में भी अलर्ट करा दिया है। बाढ़ के खतरे को देखते हुए आसपास बोट और गोताखोरों की व्यवस्था कराई गई है।

SDRF की टीम लोगों के रेस्क्यू में लगी हुई है। चंद्रपुर शहर में पानी भर जाने के कारण घर, मकान और अस्पताल तक डूब गए हैं।
SDRF की टीम लोगों के रेस्क्यू में लगी हुई है। चंद्रपुर शहर में पानी भर जाने के कारण घर, मकान और अस्पताल तक डूब गए हैं।

चंद्रपुर में घुसी महानदी, पुलिस कॉलोनी, स्वास्थ्य केंद्र, सब जलमग्न
नगर पंचायत चंद्रपुर में महानदी का प्रवेश बढ़ता जा रहा है। इसके कारण नगर पंचायत कार्यालय, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, साईं धर्मशाला, पुलिस कॉलोनी सहित कई वार्ड जलमग्न हो गए हैं। बिजली दफ्तर में पहले से ही पानी भरा हुआ था। घरों में पानी भर जाने की वजह से हालात बदतर होते जा रहे हैं। चंद्रपुर को जोड़ने वाली गोपालपुर-हीरापुर सड़क बंद हो चुकी है। चंद्रपुर-सरिया-बरमकेला मार्ग भी बाधित है। शिवरीनारायण और चंद्रपुर से प्रवेश मार्ग बाधित होने की वजह से दूसरे जिलों से सीधा संपर्क कट चुका है।

रायगढ़ से जांजगीर और रायपुर का रूट बंद होने के बाद लगी वाहनों की लंबी कतार।
रायगढ़ से जांजगीर और रायपुर का रूट बंद होने के बाद लगी वाहनों की लंबी कतार।

सरिया-सारंगढ़ में पानी-पानी, 7 जगहों पर लगाया गया राहत शिविर
रायगढ़ से सरिया हो कर सारागढ़ जाने वाली मार्ग पर लातनाला के आसपास के इलाके डूब चुके हैं। चंद्रपुर में महानदी का जलस्तर बढ़ने के बाद चंद्रपुर ब्रिज से आवाजाही बंद कर दी गई है। बाढ़ के हालातो को देखते हुए सरकारी टीचर और डॉक्टरों की छुटि्टयां रद्द कर दी गई हैं। सारंगढ़ SDM मोनिका वर्मा ने बताया कि सरिया के 8 गांव डूब गए हैं। इनमें पोरथ, विश्वासपुर, ठेंगागुडी, टोरा, रोबो शामिल हैं। यहां से लोगों को लुकापारा, सरिया, भीखमपुर, सांकरा सहित 7 जगहों पर बनाए गए राहत शिविरों में शिफ्ट किया जा रहा है।

बारिश के कारण रायगढ़ का एकमात्र कन्या महाविद्यालय जलमग्न हो गया। नैक मूल्यांकन होने के चलते रविवार को भी कॉलेज खुला था।
बारिश के कारण रायगढ़ का एकमात्र कन्या महाविद्यालय जलमग्न हो गया। नैक मूल्यांकन होने के चलते रविवार को भी कॉलेज खुला था।

रायगढ़ के एकमात्र महिला कॉलेज में घुटनों तक भरा पानी
रायगढ़ का एकमात्र कन्या महाविद्यालय जलमग्न हो गया। कन्या महाविद्यालय जब से बना है बारिश में जल भराव को लेकर छात्राओं सहित प्रोफेसरों को दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। नैक मूल्यांकन होने के चलते रविवार को भी कॉलेज खुला था और प्रोफेसर-कर्मचारी घुटनों तक पानी में चल रहे थे। कॉलेज की सीनियर प्रोफेसर डॉ. सुषमा तिवारी कहती हैं कि 1983 में स्थापित कॉलेज के 40 साल बाद भी हालत नहीं बदले हैं। पहले भी यहां जल भराव होता था और अब भी है। इसका कोई स्थाई समाधान नहीं होता।

जांजगीर-चांपा के शिवरीनारायण में महानदी का जल स्तर बढ़ने से पानी ऊपर पुल पर आ गया है। इसके बाद उसे देखने के लिए आसपास लोगों की भीड़ जुट गई है।
जांजगीर-चांपा के शिवरीनारायण में महानदी का जल स्तर बढ़ने से पानी ऊपर पुल पर आ गया है। इसके बाद उसे देखने के लिए आसपास लोगों की भीड़ जुट गई है।

रायगढ़, जांजगीर में कंट्रोल रूम बनाया गया, हेल्पलाइन नंबर जारी
जांजगीर-चांपा में बाढ़ की स्थिति को देखते हुए आपदा नियंत्रण कक्ष की स्थापना की गई है। इसका हेल्पलाइन नंबर 07817-222032 जारी किया गया है। वहीं रायगढ़ में लगातार बारिश और बाढ़ को देखते हुए जिला कार्यालय में कंट्रोल रूम बनाया गया है। इसके अलावा अलग-अलग जगहों के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए गए हैं।

  • जिला कार्यालय कंट्रोल रूम : 07762-223750
  • नगर पालिका निगम रायगढ़ : 07762-222977, 07762-101
  • तहसील रायगढ़ : 07762-22135
  • पुसौर : 07762-262862
  • बरमकेला : 07768-265041
  • सारंगढ़ : 07768-233708
  • खरसिया : 07762-272757
  • घरघोड़ा : 07767-284861
  • तमनार : 07767-281741
  • लैलूंगा : 07767-274275
  • धरमजयगढ़ : 07767-266232
रायगढ़ में महानदी के तटीय इलाके में अलर्ट कर दिया गया है। लोगों को राहत और बचाव कार्य के लिए SDRF की टीमें लगाई गई हैं। इनमें से 2 टीमें सरिया और 1 टीम पुसौर में तैनात है।
रायगढ़ में महानदी के तटीय इलाके में अलर्ट कर दिया गया है। लोगों को राहत और बचाव कार्य के लिए SDRF की टीमें लगाई गई हैं। इनमें से 2 टीमें सरिया और 1 टीम पुसौर में तैनात है।

नगर सेना की 3 टीमें तैनात, अफसरों को मौका पर पहुंचने के निर्देश
रायगढ़ कलेक्टर रानू साहू ने महानदी में जलस्तर बढ़ने और तटीय इलाकों में बाढ़ की स्थिति को देखते हुए अलर्ट जारी कर दिया है। सारंगढ़, पुसौर, बरमकेला के अधिकारियों को तत्काल मौके पर पहुंच कर स्थिति का जायजा लेने, राहत और बचाव कार्य के निर्देश दिए हैं। इसकी मॉनिटरिंग कलेक्टर खुद कर रही हैं। प्रभावित इलाकों से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर शिफ्ट करने व उनके भोजन के लिए समुचित व्यवस्था के लिए निर्देशित किया गया है। लोगों को सुरक्षित निकालने के लिए नगर सेना की टीमें तैनात कर दी गई हैं। इनमें से 2 टीमें सरिया और 1 टीम पुसौर में तैनात है।

एप्रोच रोड बह जाने से बिलासपुर-अंबिकापुर मार्ग बंद हो गया है। इस दौरान सड़क पार कर रहा एक ट्रक भी चपेट में आकर बह गया।
एप्रोच रोड बह जाने से बिलासपुर-अंबिकापुर मार्ग बंद हो गया है। इस दौरान सड़क पार कर रहा एक ट्रक भी चपेट में आकर बह गया।

अंबिकापुर-बिलासपुर मार्ग पर सिंगीटाना में एप्रोच रोड बही
अंबिकापुर-लखनपुर नेशनल हाइवे पर शनिवार रात करीब 2 बजे सिंगीटाना गांव में बनी एप्रोच रोड बह गई। इसके चलते बिलासपुर-अंबिकापुर मार्ग बंद हो गया है। इस दौरान एक ट्रक भी चपेट में आकर बह गया। चालक ने सूझबूझ से जान बचाई। घटना के बाद वाहनों की लंबी कतार लग गई। रूट डायवर्ट कर दिया गया है। अब लखनपुर-अंबिकापुर आवागमन के लिए दरिमा रोड से आना-जाना पड़ेगा। सिंगीटाना में यह तीसरी बार है जब एप्रोच सड़क बारिश में बह गई है। इससे पहले पिछले साल और 2020 में बह गई थी।

सिंगिटाना के पास रोड नवनिर्माण के तहत NHAI पुल निर्माण करा रही है। आवागमन के लिए एप्रोच रोड बनाई गई है। यही सड़क बारिश में बह गई।
सिंगिटाना के पास रोड नवनिर्माण के तहत NHAI पुल निर्माण करा रही है। आवागमन के लिए एप्रोच रोड बनाई गई है। यही सड़क बारिश में बह गई।

4 साल में पूरा होना था हाईवे, 6 साल बाद भी अधूरा
सिंगिटाना के पास रोड नवनिर्माण के तहत NHAI पुल निर्माण करा रही है। आवागमन के लिए एप्रोच रोड बनाई गई है। पानी के तेज बहाव होने के कारण एप्रोच रोड नही टिक पाई और बह गई। इसका निर्माण कार्य दो साल पहले ही हो जाना चाहिए था, लेकिन 6 साल बाद भी पूरा नहीं हो सका है। तारा गांव से लेकर अंबिकापुर तक 10 पुल-पुलियो का निर्माण अधूरा पड़ा हुआ है। एक दो जगह तो निर्माण शुरू भी नहीं हुआ है। इसके कारण हर साल बरसात में एप्रोच सड़क के बह जाने से दुर्घटना की स्थिति बन रही है।

बिलासपुर में बारिश के चलते पुराने बस स्टैंड के आसपास के इलाके में पानी भर गया। जल भराव होने से पानी दुकानों तक में घुस गया है।
बिलासपुर में बारिश के चलते पुराने बस स्टैंड के आसपास के इलाके में पानी भर गया। जल भराव होने से पानी दुकानों तक में घुस गया है।

बिलासपुर शहर में कॉलोनियां जलमग्न, नहाने गया युवक बह गया
बिलासपुर में भी लगातार हो रही बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। शहर के पुराने बस स्टैंड सही आसपास के इलाकों के साथ ही कालोनियां जलमग्न हो गई हैं। उसलापुर में तालाब और एनीकट में जलस्तर बढ़ गया है, जिससे आसपास की बस्तियों में पानी भर गया है। अभी तक निगम के राहत कैंप भी शुरू नहीं हुए हैं। शहर की बस्तियां और रिहायशी कॉलोनियां तालाब में बदल गई हैं। वहीं तख़तपुर क्षेत्र के केकराड़ में बने डैम में नहाने गया युवक बह गया। गांव वालों की मदद से परिजनोंने शव निकाल लिया है। युवक मोछ का रहने वाला था और चार महीने से अपने ससुराल केकराड़ में ही रह रहा था।

बिलासपुर के तखतपुर में नहाने के दौरान डैम में बह गए युवक का मिला शव।
बिलासपुर के तखतपुर में नहाने के दौरान डैम में बह गए युवक का मिला शव।

मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे के लिए अलर्ट जारी किया
मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे के लिए प्रदेश में बारिश का अलर्ट जारी कर दिया है। बस्तर और दंतेवाड़ा जिलों के लिए रेड अलर्ट है। इस दौरान गरज-चमक के साथ अति भारी बारिश होने की संभावना है। वहीं बीजापुर, कोंडागांव, धमतरी, बिलासपुर, कोरबा और उससे लगते जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट है। इन जिलों में भारी बारिश के साथ बिजली गिरने की भी संभावना जताई गई है। रायगढ़, जांजगीर, महासमुंद, बलौदा बाजार, रायपुर, सुकमा और उससे लगते जिलों के लिए यलो अलर्ट जारी किया गया है।

खबरें और भी हैं...