पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Janjgir
  • Building Permission Was Not Given To 220 People, Minsiter Said Those Who Are Valid, Will Give Them, Action Will Be Taken Against Those Who Are Illegal

जांजगीर नैला CMO की कैबिनेट मंत्री से शिकायत:220 लोगों को नहीं दी थी भवन अनुज्ञा,डहरिया बोले-जिनका वैध होगा,उन्हें देंगे,अवैध वालों पर होगी कार्रवाई

जांजगीरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मंत्री शिव डहरिया 15 अगस्त के अवसर पर ध्वजारोहण करने जांजगीर पहुंचे थे। - Money Bhaskar
मंत्री शिव डहरिया 15 अगस्त के अवसर पर ध्वजारोहण करने जांजगीर पहुंचे थे।

छत्तीसगढ़ के जांजगीर-नैला नगर पालिका के सीएमओ की शिकायत नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ.शिव डहरिया से हुई है। सीएमओ पर आरोप है कि उन्होंने 220 लोगों को भवन अनुज्ञा नहीं दी है। जिसके कारण लोग परेशान हैं। इस पर मंत्री डहरिया का बयान भी सामने आया है। उन्होंने साफ कहा है कि जिनका वैध है, उन्हें भवन अनुज्ञा प्रमाण पत्र दिया जाएगा। मगर जिनका अवैध है। उनके खिलाफ कार्रवाई होगी।

दरअसल, शिव डहरिया 15 अगस्त के दिन जांजगीर में ध्वजारोहण करने गए थे। इसी दौरान उनके पास कुछ लोग और कांग्रेसी पार्षद पहुंच गए। इसके बाद उन्होंने जांजगीर नैला सीएमओ चंदन शर्मा की शिकायत कर दी। उन्होंने मंत्री से बताया कि शहर में 220 अनुज्ञा के आवेदन पेंडिंग पड़े हुए हैं। जिसे चंदन शर्मा स्वीकृत नहीं कर रहे। इससे लोग काफी परेशान हैं।

शिकायत पर शिव डहरिया ने कहा कि जो वैध तरीके से भवन निर्माण करना चाहते हैं उनकी अनुज्ञा जारी की जाएगी। वहीं जो अवैध प्लॉटिंग और अवैध कॉलोनियों में अनुज्ञा चाह रहे हैं, उन पर कार्रवाई की जाएगी। नियमों के खिलाफ जाने वालों को बिल्कुल संरक्षण नहीं दिया जाएगा। इसके अलावा जब मंत्री से जांजगीर नैला के बदहाल सड़कों को लेकर बात की गई तो उन्होंने कहा कि बीजेपी ने 15 साल तक राज किया। उन्होंने पूरी व्यवस्था को खराब कर रखा था। जिसे सुधारने अब वक्त लग रहा है।

इधर इस मामले में चंदन शर्मा ने कहा कि नगरीय प्रशासन मंत्री से दिशा-निर्देश मिल गए हैं। ऐसी कोई भी फाइल जो वैध निर्माण से संबंधित है, उसे नहीं रोका जाएगा। जो नियमितीकरण के दायरे में हैं, उन्हें नियमित किया जाएगा। वहीं अवैध निर्माण कार्यों, अवैध प्लॉटिंग पर एक्शन जल्द लिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...