पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हाथियों का उत्पात जारी:ग्रामीणों के घरों को तोड़ अंदर रखा अनाज कर गए चट; वनकर्मियों की सतर्कता से बची बुजुर्ग महिला की जान

गौरेला-पेंड्रा-मरवाही (GPM)6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हाथियों ने तोड़ा घर। - Money Bhaskar
हाथियों ने तोड़ा घर।

छत्तीसगढ़ के गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिले में हाथियों का उत्पात जारी है। यहां 3 हाथियों के दल ने मरवाही रेंज के मटियाडांड गांव में घरों को तोड़ दिया। वहीं वन विभाग के कर्मचारियों की सतर्कता के कारण एक महिला की जान भी बच गई। दरअसल एक घर के बाहर हाथियों का दल मौजूद था। इधर घर के अंदर 75 साल की बुजुर्ग सोनकुंवर मौजूद थी। हाथियों के डर से वो घर से बाहर भी नहीं निकल पा रही थी।

वन विभाग के कर्मचारियों को इसकी जानकारी मिलने के बाद वे तत्काल मौके पर पहुंचे। उन्होंने सूझबूझ और बहादुरी दिखाते हुए हाथियों को खदेड़ा और बुजुर्ग महिला को सुरक्षित रेस्क्यू कर लिया। 3 हाथियों का ये दल पसान रेंज से मरवाही पहुंचा है। वनकर्मी और हाथी मित्र दल इनके हर मूवमेंट पर नजर रख रहे हैं।

हाथियों ने घरों को तोड़ा।
हाथियों ने घरों को तोड़ा।

पिछले एक सप्ताह से मरवाही रेंज के रूमगा और मटियाडांड के आसपास हाथियों का दल विचरण कर रहा है। शुक्रवार रात उन्होंने 3 घरों को तो नुकसान पहुंचाया ही, साथ ही अंदर रखे अनाज को भी चट कर गए। हाथियों ने कई किसानों की फसल को भी रौंद दिया।

हाथी अनाज भी कर गए चट।
हाथी अनाज भी कर गए चट।

रूमगा गांव में भी हाथियों ने मचाया था उत्पात

इससे पहले सोमवार देर रात भी हाथियों ने मरवाही के रूमगा गांव में 4 मकानों को तोड़ दिया था और 14-15 किसानों की फसलों को नुकसान पहुंचाया था। इसके अलावा बाड़ी में लगी सब्जियां भी हाथियों ने रौंद दी थीं। इस दौरान हाथियों के बीच फंसी नेत्रहीन महिला सहित 2 लोगों की जान वनकर्मियों ने अपनी सूझबूझ से बचाई थी।

वन विभाग में कई पद पड़े हैं खाली

मरवाही में वन विभाग के एसडीओ, रेंजर सहित कई पद खाली पड़े हैं, जिसके चलते बचाव कार्य प्रभावित हो रहे हैं, जबकि इन इलाकों में हाथियों का दल अक्सर पहुंचकर उत्पात मचाता है। हाथी मरवाही और पसान रेंज के बीच में ही लगातार विचरण कर रहे हैं और फिलहाल रूमगा गांव के पास मौजूद हैं। वन विभाग लोगों को अलर्ट कर रहा है और उनसे बचाव के उपाय बताए जा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...