पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पालकों में आक्रोश:आत्मानंद हिंदी स्कूल में प्रवेश नहीं

पलारी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शासन के आदेश को 5 दिन गुजर गए पर पलारी में आत्मानंद स्कूल में 9,11वीं क्लास के बच्चों का प्रवेश प्रारंभ नहीं हुआ है जिससे पालकों में आक्रोश बढ़ रहा है। स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल के प्राचार्य जीपी त्रिपाठी ने स्पष्ट कहा है कि टीचर नहीं हैं इसलिए वे हिंदी माध्यम के बच्चों को प्रवेश नहीं दे रहे हैं। ऐसे में बड़ा सवाल कि क्या प्राचार्य शासन के आदेशों के ऊपर हो गए हैं? ज्ञात हो कि पलारी में स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल खुलने के बाद शासकीय हाई स्कूल हिंदी माध्यम को इंग्लिश मीडियम में मर्ज कर दिया गया है।

पिछले वर्ष हिंदी और अंग्रेजी दोनों माध्यम के बच्चों को नवप्रवेश दिया गया था मगर इस वर्ष हिंदी माध्यम के बच्चों का स्कूल में प्रवेश पर पाबंदी लगा दी गई थी। इस गंभीर मामले को भास्कर ने 18 जून को प्रमुखता से प्रकाशित किया था।

खबर छपने के बाद शासन ने 20 तारीख को देर शाम समस्त कलेक्टरों को आदेश जारी कर कहा कि स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल में हिंदी माध्यम के विद्यार्थी अध्ययनरत हैं वहां हिंदी माध्यम की पढ़ाई अनिवार्य रूप से कराई जाए मगर आज स्कूल खुले 10दिन बीत गए और नया आदेश आए 5 दिन, अब भी 9 ,11वीं के बच्चों का प्रवेश प्रारंभ नहीं हुआ है।

वहीं स्वामी आत्मानंद कैंपस के अंदर में संचालित मिडिल स्कूल के प्रधान पाठक किशोर वर्मा द्वारा शासन के आदेशों का पालन कर 6वी में बच्चों का प्रवेश प्रारंभ कर दिया है मगर उसी कैंपस में हिंदी माध्यम के हाईस्कूल में प्रवेश आज भी बंद है।

दो प्राचार्य पर एक को प्रवेश देने का पॉवर नहीं: स्वामी आत्मानंद विद्यालय में तथाकथित रूप से दो प्राचार्य हैं। एक वर्तमान में इंग्लिश मीडियम स्कूल के प्राचार्य जीपी त्रिपाठी हैं जबकि हिंदी माध्यम के पूर्व प्राचार्य सीएस वर्मा आज भी विद्यालय में हैं मगर उन्हें अन्य स्कूल में अटैच कर देने से उसके पास कोई पॉवर नहीं है। हिंदी और इंग्लिश माध्यम की दोनों कक्षाएं का संचालन इंग्लिश मीडियम स्कूल के प्राचार्य जीपी त्रिपाठी करेंगे।

खबरें और भी हैं...