पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सता रहा किसानी चौपट होने का खतरा:शोभा सोसायटी में खाद की किल्लत, किसान हो रहे हैं परेशान

मैनपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शोभा सोसायटी में खाद लेने पहुंचे बड़ी संख्या में किसान। - Money Bhaskar
शोभा सोसायटी में खाद लेने पहुंचे बड़ी संख्या में किसान।

मैनपुर राजापडा़व क्षेत्र की 8 ग्राम पंचायतों के 65 पारा टोला गांवों में हजारों किसानों द्वारा वृहद रूप से मक्के एवं धान की खेती की जाती है खरीफ फसल के लिए किसानों ने तैयारी शुरू कर दी है, खेत तैयार करने के लिए किसान जुटे हुए हैं लेकिन क्षेत्र के किसानों को लगातार आदिम जाति सेवा सहकारी समिति शोभा के चक्कर काटने के बाद भी पर्याप्त मात्रा में खाद नहीं मिल रही है। अभी सीजन में मक्का खेती की जा रही है जिसके लिए डीएपी खाद नहीं मिल पा रही है। सैकड़ों किसान लगातार शोभा सोसाइटी पहुंंचकर खाली हाथ देर शाम को घर लौटने मजबूर हैं।

किसानों को विशेषकर यूरिया डीएपी पोटाश खाद की जरूरत है लेकिन सोसाइटी के माध्यम से नहीं मिल पाने के कारण किसानों को खेती किसानी चैपट होने का खतरा सता रहा है वही दोगुने दामों मे खाद को दुकानों के माध्यम से लेना किसानों की मजबूरी है।

सोसाइटी में खाद लेने सुबह से पहुंचे क्षेत्र के किसान पुसऊ राम, निर्मलकर, नरेश नेताम, उमेश कुमार मरकाम, भगवान सिंह नेताम, टीकम सिंह नेताम, अर्जुन सिंह नेताम, मानसाय नेताम, ओमप्रकाश नेताम, विनोद नाग, जीवनलाल नेताम, मन्नू राम मरकाम, गोकुल नाग, जामिया राम मरकाम, बंसी लाल मरकाम, जागेश्वर नेताम, मोचन नेगी, छतर सिंह नेताम ने बताया कि हम लोग लगातार शोभा सोसाइटी का चक्कर लगा रहे हैं लेकिन अभी तक हमें खाद उपलब्ध नहीं हो पा रही है।

प्रबंधक बोले-खाद की किल्लत है:
इस संबंध में आदिम जाति सेवा सहकारी समिति शोभा प्रबंधक शिवकुमार साहू ने बताया कि खाद की किल्लत है, हमारे पास पुरानी रिजेक्टेड डीएपी खाद 5 टन उपलब्ध है लेकिन उसे नहीं बेच सकते। वहीं यूरिया 30 टन आई है जिसका एनवाईएस नहीं मिला है जिस कारण से किसानों को नहीं बेच पा रहे है।

खबरें और भी हैं...