पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गड़बड़ी:सरकारी किताबें कबाड़ में बेचने का मामला, दूसरे दिन भी नहीं पहुंचे अधिकारी, जांच अटकी

पथरिया4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पथरिया थाना क्षेत्र के अंतर्गत सरकारी स्कूल की पाठ्य पुस्तक निगम की लगभग 2 हजार पुस्तकें स्कूल प्रबंधन द्वारा कबाड़ी को बेचने का मामला सामने आने के बाद दूसरे दिन भी अधिकारी नहीं पहुंचे। जिसकी वजह से यह पुस्तकें मिनी मालवाहक वाहनों में थाने में ही रखी हुई हैं। इधर पुलिस ने भी अब तक इस मामले में कोई एफआआर नहीं की है।

पुलिस का कहना है कि जब तक शिक्षा विभाग का कोई अधिकारी इन पुस्तकों की जांच नहीं करता है, तब तक एफआईआर नहीं की जाएगी। गौरतलब है कि सतपारा हाईस्कूल प्रबंधन द्वारा नए सत्र की करीब 2 हजार पुस्तकों को रहली के एक कबाड़ी को 7 हजार रुपए में बेंच दी थी। शनिवार को यह कबाड़ी इन पुस्तकों को मिनी मालवाहक वाहन में भरकर ले जा रहा था, तो रास्ते में भगवती मानव कल्याण संगठन के सदस्यों ने मालवाहक व चालक को पकड़कर थाने ले गए थे।

पुलिस थाने आने से बच रहे अधिकारी
थाना प्रभारी एमपी सिंह का कहना है कि मैंने शनिवार एवं रविवार को जिला शिक्षा अधिकारी को इस मामले में फोन लगाकर थाने आकर पुस्तकों की जांच करने के लिए संपर्क किया, लेकिन उन्होंने फोन ही रिसीव नहीं किया। जिसकी वजह से अब तक इस मामले में कोई एफआईआर नहीं की जा सकी है। नियम अनुसार इन पुस्तकों को बेचा भी नहीं जा सकती है। लेकिन स्कूल प्रबंधन ने इतनी अधिक संख्या में इन पुस्तकों को क्यों बेंच दिया, क्या यह पुस्तकें बच्चों को नहीं दी गईं। यह जांच का विषय है। इस संबंध में जिला शिक्षा अधिकारी एसके मिश्रा से संपर्क किया, लेकिन उन्होंने फोन रिसीव नहीं किया।
मामला गंभीर जांच की जाएगी

यह गंभीर मामला है। इतनी अधिक पुस्तकें कैसे कबाड़ी को बेंच दी गईं। मामले की जांच कराई जाएगी।
- मनीष वर्मा, संयुक्त संचालक शिक्षा सागर

खबरें और भी हैं...