पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59005.270.88 %
  • NIFTY175620.95 %
  • GOLD(MCX 10 GM)463320.4 %
  • SILVER(MCX 1 KG)602350.53 %

अच्छी पहल:अमरकंटक में राजमेढ़गढ़ पर्यटकों के लिए विकसित होगा; छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल के अध्यक्ष की मांग पर वनमंत्री की सहमति

बिलासपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पेंड्रा, गौरेला मरवाही जिले में है राजमेढ़गढ़। एक सुंदर नजारा। - Money Bhaskar
पेंड्रा, गौरेला मरवाही जिले में है राजमेढ़गढ़। एक सुंदर नजारा।

अमरकंटक का खूबसूरत हिस्सा राजमेढ़ गढ़ जो छत्तीसगढ़ में आता है, उसे पर्यटकों के लिए जल्द ही विकसित किया जाएगा। गुरुवार को छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल के अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव ने इसके लिए वन मंत्री अकबर खान से मुलाकात की। वन मंत्री ने इसके लिए सहमति दे दी है। उन्होंने एस्टीमेट बनाकर भेजने के लिए कहा है।

अटल के अनुसार राजमेढ़ गढ़ की पहाड़ियों में पर्यटकों के रहने की व्यवस्था की जाएगी। यहां अधूरी पड़ी एप्रोच रोड को भी पूरा किया जाएगा। राजमेढ़ गढ़ तक एप्रोच रोड बनाकर उसे अमरकंटक के बराबर लाया जाएगा। इसी तरह यहां पर्यटकों के लिए सभी सुविधाएं विकसित की जाएगी। वनमंत्री ने इसके लिए उन्हें जल्द एस्टीमेट बनाकर भेजने के लिए कहा है। पर्यटन मंडल के अध्यक्ष के अनुसार इसी तरह अचानकमार टाइगर रिजर्व को कान्हा पार्क की तर्क पर डेवलप किया जाएगा। इसका एक गेट खोला जाएगा।

वनमंत्री से मिले अटल श्रीवास्तव।
वनमंत्री से मिले अटल श्रीवास्तव।

यह सुनिश्चित किया जाएगा कि टाइगर रिजर्व जंगलों के साथ-साथ पर्यटकों के लिए भी विकसित हो सके। पर्यटन मंडल अध्यक्ष के अनुसार उन्हें वनमंत्री ने बताया है कि इसके लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी अपनी सहमति दे दी है और तैयारी करने के लिए कहा है। यहां पर जानवरों की सुरक्षा के लिए भी जल्दी काम होगा, जिससे टाइगर रिजर्व के क्षेत्र में अचानकमार का नाम काफी उँचा हो सके। अभी यह डेवलपमेंट नहीं है, यहां सुविधाएं नहीं है। इस पर भी विचार किया जाएगा कि गांवों से घिरे इस टाइगर रिजर्व में गांववालों को रोजगार के साधन कैसे उपलब्ध हो। मुख्यमंत्री के निर्देशित किया है इस पर कार्ययोजना बनाकर इसे अमली जाना पहनाया जाएगा।

खबरें और भी हैं...