पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59005.270.88 %
  • NIFTY175620.95 %
  • GOLD(MCX 10 GM)463320.4 %
  • SILVER(MCX 1 KG)602350.53 %

शराब के नशे धुत ड्राइवर:चालक ने हाइवा से पांच गायों को कुचला, दो की मौत, तीन घायल

बिलासपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृत गायों को निजी वाहन में भरकर थाना लाया। - Money Bhaskar
मृत गायों को निजी वाहन में भरकर थाना लाया।
  • मोपका से छठघाट के बीच की घटना, ड्राइवर भागा, मंगला चौक पर पकड़ा गया

हाइवा चालक ने गायों को सड़क पर कुचल दिया। इससे दो गायाें की मौके पर ही मौत हो गई जबकि तीन गंभीर रूप से घायल हो गईं। राजकिशोर नगर शनि मंदिर निवासी नागेंद्र कुमार कैवर्त पिता आरपी कैवर्त 24 वर्ष गौ-रक्षा समिति के सदस्य की रिपोर्ट पर पुलिस ने ट्रक चालक के खिलाफ जुर्म दर्ज कर उसे गिरफ्तार किया।

मामला सरकंडा थाना क्षेत्र का है। घटना 28 जुलाई की रात 9.30 बजे की है। मोपका चौक से छठघाट की ओर जाने वाली मार्ग पर रात को एक हाइवा गुजरी। इसकी रफ्तार काफी तेज थी। बताया जा रहा है कि ड्राइवर शराब के नशे धुत था। राहुल ढाबा के पास मेनरोड पर सड़क किनारे कुछ गाय बैठी थी। ड्राइवर ने जानबूझकर गायों के ऊपर गाड़ी चढ़ाकर उनकी हत्या कर दी है। दो की मौके पर ही मौत हो गई और तीन गंभीर रूप से घायल हो गए। घटना के बाद ड्राइवर वहां से गाड़ी लेकर फरार हो गया। लोगों ने गाड़ी का पीछा किया। गाड़ी तोरवा से होते हुए शहर के भीतर से उसलापुर की ओर भागी पर मंगला चौक के पास उसे रोक लिया गया। ड्राइवर को गाड़ी सहित पुलिस को सौंप दिया। सूचना मिलने पर गौ रक्षा सेवा समिति के सदस्य घटनास्थल पर पहुंचे और मृत गायों को निजी वाहन में भरकर थाने ले आए और घायलों का मौके पर ही डॉक्टर बुलाकर इलाज कराया। हाइवा चालक इमाम अंसारी पिता इस्माइल 28 वर्ष संग्राखुर्द, जिला गढ़वा झारखंड के खिलाफ पुलिस ने जुर्म दर्ज किया है। हाइवा को जब्त कर लिया गया है।

नो एंट्री में दौड़ रही थी गाड़ी पुलिस ने नहीं रोका
शहर में 10.30 बजे के बाद ही भारी वाहनों को प्रवेश दिया जाता है पर चालक गाड़ी को एंट्री में भगा रहा था। मोपका चौक के पास पुलिस होती है पर उसे जाने से नहीं रोका गया।

सड़क पर स्ट्रीट लाइट नहीं आए दिन होती है दुर्घटना
मोपका चौक से छठघाट तक रात को अंधेरा रहता है। इस मार्ग पर कहीं पर भरी स्ट्रीट लाइट नहीं है। इसकी वजह से यहां आए दिन दुर्घटनाएं होती है।

मोपका-छठघाट रोड पर अक्सर मवेशियों का जमावड़ा
तोरवा चौक से लेकर मोपका तक हर रोज करीब 50-60 गाय बैठती हैं। नगर निगम जितनी गायों को पकड़ती है, यहीं पर लाती है और सड़क पर छोड़ देती है। इन्हें गौशाला में शिफ्ट नहीं किया जाता जबकि गौशाला को अनुदान मिलता है। इससे गाय या तो दुर्घटना का शिकार बनते हैं या फिर पुरानी जगह पर चले जाते हैं।

खबरें और भी हैं...