पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Market Watch
  • SENSEX48690.8-0.96 %
  • NIFTY14696.5-1.04 %
  • GOLD(MCX 10 GM)475690 %
  • SILVER(MCX 1 KG)698750 %

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

दुर्ग में टोटल लॉकडाउन:जिले में बेकाबू कोरोना की चेन तोड़ने का प्रयास, आज से 9 दिनों तक सड़कों पर दिखेगा सन्नाटा

दुर्गएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दुर्ग जिले की सीमाएं पूरी तरह से सील कर दी गई हैं। बाहर से आने-जाने वाले लोगों को रोका जा रहा है। - Money Bhaskar
दुर्ग जिले की सीमाएं पूरी तरह से सील कर दी गई हैं। बाहर से आने-जाने वाले लोगों को रोका जा रहा है।
  • जिले में सुबह से जिले की सीमाओं पर पुलिस ने नाकेबंदी की है
  • दुर्ग की सीमा में आने की पूरी तरह से पाबंदी रहेगी

छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में टोटल लॉकडाउन पिछले 9 दिन तक रहेगा। बाहर से आने-जाने वाले लोगो पर पाबंदी रहेगी। साथ ही कोई भी व्यक्ति कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन करते हुए पाया जाएगा। उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

लॉकडाउन सख्त होगा

दुर्ग कलेक्टर डा0 सर्वेश्वर नरेंद्र भूरे कहा है कि इस बार का लॉकडाउन सख्त रहेगा। इसके लिए आदेश जारी कर दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि इस बार सब्जी और फल मार्केट समेत तमाम दुकानें पूरी तरह बंद रहेंगी। जिले की सीमाएं भी सील रहेगी। बेवजह यदि कोई सड़कों पर दिखाई दिया, तो उसके खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। ई-पास के बगैर आने वालों पर पूरी तरह से प्रतिबंध होगा। ई-पास का आवेदन जिले की वेबसाइट पर उपलब्ध कराया गया है। इसके अलावा केवल इमरजेंसी सेवाएं जैसे दवाई दुकानें, पेट्रोल पंप और चश्मे की दुकानों को लॉकडाउन से छूट मिली है।

दुर्ग के पड़ोसी जिलों में सबसे ज्यादा एक्टिव केस

बार्डर इलाकों पर ज्यादा निगरानी रखने की व्यवस्था की गई हैं। दरअसल, राजनांदगांव बार्डर से दुर्ग-भिलाई आने-जाने वालों की संख्या ज्यादा होती है और जिले से सटे महाराष्ट्र में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। इसलिए प्रशासन की चौकसी रहेगी। साथ ही अन्य जिलों की सीमाएं पर कड़ी निगरानी रखी जा रही हैं। जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन की अलग-अलग टीमें हर जगहों पर तैनात की गई हैं।

जिलाकुल एक्टिव केस
दुर्ग12589
रायपुर10775
राजनांदगांव3701
बिलासपुर2291
बेमेतरा1746
बालोद983

लॉकडाउन दौरान क्या खुलेगा और क्या रहेगा बंद

  • जिले की सभी सीमाएं सील रहेंगी
  • जिले में प्रवेश केवल ई-पास के माध्यम से मिलेगा
  • शराब की सभी दुकानें बंद रहेंगी
  • घर पर जाकर दूध बांटने वाले दूध विक्रेता सुबह 6 से 7 बजे तक काम कर पाएंगे
  • न्यूज पेपर हॉकर सुबह 6 बजे से 8 बजे तक की मोहलत रहेगी
  • दवा दुकानें, मेडिकल स्टोर्स, चश्मा दुकानें, डीजल, पेट्रोल पंप, LPG और CNG खुले रहेंगे
  • मास्क, सैनिटाइजर, ATM वाहनों को छूट रहेगी
  • बिजली, पेय जलापूर्ति और नगर पालिका सेवाएं
  • जिले के अंतर्गत स्थित समस्त औद्योगिक संस्थान, इकाइयों एवं खान (माइनिंग) को इस प्रतिबंध से छूट रहेगी,
  • धान परिवहन, उद्योग एवं निर्माण कार्य,
  • बैंक और पोस्ट आफिस सुबह 10 बजे से दोपहर 1 बजे तक खुले रहेंगे
  • सरकारी कार्यालयों में आम लोगों के आने जाने पर होगा प्रतिबंध
  • बोर्ड परीक्षाएं एवं अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं का संचालन की अनुमति होगी
  • पशु चारा, खाद्य आपूर्ति से संबंधित परिवहन सेवाएं संचालित रहेगी
  • विवाह, अंत्येष्ठि, तेरहवीं के लिए पूर्व से अनुमति लेना आवश्यक होगा
  • प्रवेश प्रक्रिया एवं ऑनलाइन क्लासेस की अनुमति होगी
  • चार पहिया गाड़ी में ड्राइवर सहित 3 और दो पहिया में दो लोगों को अनुमति होगी
  • समस्य औद्योगिक संस्थान इकाइयों में सिर्फ जरूरत के मुताबिक ही कार्मचारियों को बुलाया जा सकेगा
  • पेट्रोल पंप से केवल शासकीय वाहन, शासकीय कार्य में उपयोग वाहन, अस्पताल, मेडिकल इमरजेंसी से संबंधित निजी वाहन, एंबुलेंस परिवहन कार्य में प्रयुक्त वाहन, एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, अंतर्राज्यीय बस स्टैंड से संचालित ऑटो, टैक्सी ई-पास धारित करने वाले वाहन एडमिट कार्ड, कॉल लेटर दिखाने पर परीक्षार्थियों, उनके अभिभावक, परिचय पत्र दिखाने पर मीडियाकर्मी, प्रेस वाहन, न्यूज पेपर हॉकर, दुग्ध वाहन और छत्तीसगढ़ में नहीं रुकते हुए अन्य राज्य से सीधे अन्य राज्य जाने वाले को POL दिया जाएगा। अन्य सभी वाहनों के लिए POL देना प्रतिबंधित रहेगा।

आखिर क्यों लगाना पड़ा लॉकडाउन

दुर्ग कलेक्टर डा0 सर्वेश्वर नरेन्द्र भुरे ने बताया कि जिले में कोरोना वायरस का प्रकोप काफी तेजी से बढ़ रहा हैं। जिसे देखते हुए टोटल लॉकडाउन लगाया गया है। कोविड-19 की स्थिति को देखते हुए ही 6 से 14 अप्रैल तक पूरी तरह से टोटल लॉकडाउन लागू रहेगा।

खबरें और भी हैं...