पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX60821.62-0.17 %
  • NIFTY18114.9-0.35 %
  • GOLD(MCX 10 GM)476040.47 %
  • SILVER(MCX 1 KG)650340.55 %

रजिस्ट्रेशन शुरू:44 हजार निरक्षर काे साक्षर बनाने 26 साल बाद होगी परीक्षा

दुर्गएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

दुर्ग संभाग के 44 हजार निरक्षर महिला और पुरूष 26 साल बाद साक्षर होने के लिए परीक्षा देंगे। इसके लिए सीजी स्कूल डॉट इन पोर्टल में रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है। जिन निरक्षरों को यह लगेगा कि वे तीन महीने की पढ़ाई में साक्षर हो सकते हैं। ऐसे लोगों का रजिस्ट्रेशन करवाया सकते हैं। 30 सितंबर को परीक्षा होगी। राज्य साक्षरता प्राधिकरण द्वारा पढ़ना लिखना अभियान के अंतर्गत यह परीक्षा दुर्ग, बालोद, बेमेतरा, राजनांदगांव, कबीरधाम जिले में आयोजित की जाएगी। वर्ष 1994 को पूर्ण साक्षर जिला दुर्ग को घोषित किया गया था। इसके बाद से साक्षरता अभियान बंद था, जिसे फिर से इस साल शुरू किया गया है।

इस बार केवल हस्ताक्षर करना नहीं है साक्षर होना
इस बार साक्षर होने के लिए केवल हस्ताक्षर कर लेना ही पर्याप्त नहीं होगा। साक्षरता के मापदंड में बदलाव किया गया है। वे लोग ही साक्षर होंगे जो अखबार की हेडिंग पढ़ सकता हो। सड़क के संकेतकों को समझ ले। दैनिक कार्य जैसे जोड़ना, घटाना, गुणा, भाग आता हो। आवेदन फार्म लिखकर भर सके। साक्षर होने के लिए आंकलन परीक्षा 30 सितंबर को सुबह 10 बजे से शाम पांच बजे तक दो पालियों में होगी। प्रश्नपत्र हल करने के लिए 3 घंटे का समय दिया जाएगा। परीक्षा केंद्र को रजिस्ट्रेशन के हिसाब से तय किया जाएगा।

दुर्ग जिले में 90 केंद्रों में आयोजित होगी परीक्षा
दुर्ग जिले में वर्ष 2011 जनगणना के हिसाब से 79.06 प्रतिशत साक्षर दर है। यहां 9041 महिला और पुरूष निरक्षर हैं। जिनमें 7310 महिला और 1731 पुरूष हैं। इन लोगों को साक्षर करने के लिए जिले में 90 साक्षरता केंद्र के माध्यम से पढ़ाई करवाई जा रही है।

अनुतीर्ण निरक्षरों को फिर से मिलेगा इस बार मौका
जो निरक्षर आंकलन परीक्षा में अनुर्तीण हो जाता है। उसे तीन महीने बाद फिर से आयोजित परीक्षा में मौका दिया जाएगा। ऐसे लोगों को फिर से साक्षरता केंद्रों में पढ़ाई करवाई जाएगी। जिसमें वे कमजोर है उन्हीं टॉपिक पर दक्षता केंद्रित पढ़ाई करवाई जाएगी।

खबरें और भी हैं...