पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX60821.62-0.17 %
  • NIFTY18114.9-0.35 %
  • GOLD(MCX 10 GM)476040.47 %
  • SILVER(MCX 1 KG)650340.55 %

सावधान रहने की अपील:मुड़पार-कमकापार के जंगल क्षेत्र में घूमता दिखा हाथियाें का दल

डौंडीलोहाराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • राजनादगांव जिले की ओर बढ़ने की आशंका, विभाग अलर्ट

रविवार को भी डौंडीलोहारा क्षेत्र के जंगल मे हाथियों ने डेरा डाले रखा। हाथियों काे मुड़पार-कमकापार के जंगल के क्षेत्र क्रमांक 327 में विचरण करते हुए देखा गया। 20 से 22 की संख्या में हाथियों के दल में तीन छोटे बच्चे हाथी होने की पुष्टि विभाग ने की है। गुरुवार को देर रात कोडेकसा के जंगल में आमद के बाद लगातार रात में वे आगे की ओर बढ़ रहे हैं। ऐसे ही आगे बढ़ते रहे तो आशंका व्यक्त की जा रही है कि वे जल्द ही राजनांदगांव जिले के वन क्षेत्र के सीमा में प्रवेश कर सकते हैं।

इस बीच शनिवार रात हाथियों के आगे बढ़ने से खेतों के खड़ी फसल को नुकसान हुआ है वही कहीं जन धन की हानि की खबर नही है। जबकि संबंधित क्षेत्र के विभिन्न ग्रामों में वन विभाग मुनादी करा सचेत कर रहे हैं। ग्राम बड़ाजुंगेरा की सीमा में स्थित जामडी के जंगल में भी कुछ हाथियों के होने की संभावना व्यक्त की जा रही है। ग्राम सरपंच पति डेनियल टेकाम ने बताया कि ग्राम का एक कृषक ग्राम से लगे अपने खेतों की ओर गया था। जहां उसने हाथियों के चिंघाड़ने की आवाज सुनी व उल्टे पांव ग्राम लौटकर जानकारी दी। ग्राम सरपंच के माध्यम से विभाग को भी जानकारी दी गई। उल्लेखनीय है कि चंदा हाथियों का दल लगातार फसलों को नुकसान पहुंचा रहा है। उन्होंने बताया कि हाथी इसी तरह आगे बढ़ते रहे तो वे जल्द ही राजनांदगांव की सीमा से लगे वन क्षेत्र में प्रवेश कर सकते हैं। डीएफओ मयंक पांडे व उप वन मंडलाधिकारी विवेक शुक्ला ने भी शनिवार को संबंधित वन क्षेत्र का दौरा कर आवश्यक निर्देश भी दिए।

नुकसान का आकलन
मुड़पार जंगल में लोकेशन मिलने के बाद मुड़पार, हितापठार, बासतो, लमती, तूएगोंदि, तुमड़ीकसा, कमकापार, जरहालमती आदि ग्रामों में लाेगाें काे सावधान किए हैं। फसल नुकसान का आकलन कर रहे हैं। मुड़पार में रहने वाले संबंधित क्षेत्र के जनपद सदस्य खिलेश्वरी मंडावी ने बताया कि ग्राम के सेवाराम नेताम के एक एकड़ व सियाराम बट्टी के डेढ़ एकड़ की खड़ी धान फसल को हाथियों ने नुकसान पहुंचाया।

तुरंत सूचना देने कहा गया
वन विभाग के रेंजर जेएल सिन्हा ने बताया कि लोगों को समझाइश दी जा रही है कि हाथियों के दिखाई देने पर तुरंत ही विभागीय अधिकारियों को सूचना दे। वीडियो या सेल्फी लेने के प्रयास ना करें। पटाखे ना फोड़े, उनके नजदीक ना जाएं। शाम को पांच बजे के बाद घरों पर ही रहे व घर के सामने के हिस्से की लाइट जला कर रखें। अंदर जंगल में जाने की मनाही की गई है। गांवों में जनप्रतिनिधियों, सरपंच व ग्रामीणों का सहयोग है।

खबरें और भी हैं...