पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बस्तर में जश्न-ए-आजादी:नक्सलगढ़ पहुंच युवाओं ने ग्रामीणों को बांटा तिरंगा, साथ मिलकर फहराया भी

जगदलपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गांव-गांव में आजादी का जश्न। - Money Bhaskar
गांव-गांव में आजादी का जश्न।

छत्तीसगढ़ के बस्तर में आजादी के अमृत महोत्सव का जश्न देखने को मिला। गांव-गांव में तिरंगा लहराया गया। बस्तर के ऐसे कई नक्सल प्रभावित गांव हैं, जिनकी दूरी जिला और ब्लॉक मुख्यालयों से काफी दूर है। ऐसे ही गांवों में 15 अगस्त के दिन जगदलपुर के युवा पहुंचे और ग्रामीणों के साथ आजादी का जश्न मनाया। लोगों को तिरंगा भी बांटा, आजादी की खुशियां मनाई।

दरअसल, संभागीय मुख्यालय जगदलपुर से करीब 60 किमी दूर अंदरूनी ककनार गांव स्थित है। इलाका पूरी तरह से नक्सल प्रभावित है। इस गांव में आजादी की खुशियां मनाने जगदलपुर शहर के रहने वाले अनिल लुंकड़, तेजपाल शर्मा समेत अन्य लोग पहुंचे। ग्रामीणों को तिरंगा बांटे। रास्ते में जो भी ग्रामीण दिखे थे उनको तिरंगा दिए। भारत माता की जय-जयकार के नारे भी लगाए गए।

घरों के बाहर लहराता तिरंगा।
घरों के बाहर लहराता तिरंगा।

युवा तेजपाल शर्मा ने बताया कि, अंदरूनी इलाके में आजादी का अमृत महोत्सव मनाने गए थे। हर घर तिरंगा पहुंचाना हमारा लक्ष्य था। इसी उद्देश्य के साथ नक्सल प्रभावित ककनार गांव पहुंचे। यहां के ग्रामीणों को तिरंगा बांटे। ग्रामीणों के साथ मिलकर लोगों उनके घरों के बाहर तिरंगा भी फहराया। ऐसा कर बेहद खुशी मिली। इस बीच कई उपयंत्री नदियां भी पड़ी थी जिसे पार किया और गांव तक पहुंचा।

खबरें और भी हैं...