पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

द्रोणिका सक्रिय:14 घंटे में 30.7 मिमी हुई बारिश, 1.70 लाख हेक्टेयर में लगी धान फसल के लिए जीवनदान

बालोद4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बारिश थमने के बाद सोमवार को सुबह अर्जुन्दा में जलभराव की स्थिति रही। - Money Bhaskar
बारिश थमने के बाद सोमवार को सुबह अर्जुन्दा में जलभराव की स्थिति रही।

मानसून द्रोणिका सक्रिय होने के साथ ही जिले में अच्छी बारिश होने का सिलसिला शुरू हो गया है। लिहाजा शहर से लेकर गांव में जलभराव की स्थिति भी बन रही है। जिससे चलते लोगों को परेशानियांे का सामना करना पड़ रहा है। जिले में रविवार दोपहर 2 बजे से सोमवार सुबह 4 बजे तक 14 घंटे में 30.7 मिमी औसत बारिश हुई। इस दौरान सबसे ज्यादा अर्जुन्दा तहसील में 50.4 मिमी पानी गिरा। स्थिति ऐसी रही कि अर्जुन्दा नगर के वार्ड 5, बाजार चौक सहित आसपास कई वार्डों में जलभराव की स्थिति रही। इससे लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा।

विश्वास जीतू गुप्ता ने बताया कि नाली सफाई नियमित नहीं होने, कचरा भरा होने की वजह से पानी की निकासी नहीं हो पाती। जिसका खामियाजा वार्डवासियों को भुगतना पड़ता है। सत्येंद्र कुमार यादव ने बताया कि बारिश के बाद घर के सामने पानी भर गया था। रविवार शाम से सोमवार दोपहर तक लगभग 12 घंटे यह स्थिति बनी हुई थी। घर के सामने नाली आगे से जाम होने से इस समस्या का सामना हल्की बारिश में भी करना पड़ता है।

चक्रीय चक्रवाती घेरा का भी असर, क्षेत्र में निम्न दाब का केंद्र बनने से हो रही बारिश
मौसम वैज्ञानिक एचपी चंद्रा ने बताया कि मानसून द्रोणिका जैसलमेर, कोटा, गुना, जबलपुर, पेंड्रा रोड, निम्न दाब का केंद्र, और उसके बाद दक्षिण- पूर्व की ओर उत्तर अंडमान सागर तक 0.9 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है। इसके अलावा एक चिन्हित निम्न दाब का क्षेत्र उत्तर-पश्चिम बंगाल की खाड़ी और उससे लगे पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी-तटीय ओडिशा- तटीय आंध्रप्रदेश के ऊपर स्थित है।

इसके साथ ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा 7.6 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है। इसके और प्रबल होकर अवदाब के रूप में परिवर्तित होने की संभावना है तथा यह पश्चिम-उत्तर-पश्चिम दिशा में आगे बढ़ते हुए ओडिशा और छत्तीसगढ़ की ओर जाने की संभावना है। जिसके प्रभाव से 9 अगस्त को अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है। कुछ स्थानों पर भारी वर्षा हो सकती है।

लोहारा में 42.9 व बालोद में 24.3 मिमी पानी गिरा
अर्जुन्दा के अलावा डौंडीलोहारा में 42.9, गुंडरदेही में 27.6, बालोद में 24.3, डौंडी में 23.8 और गुरूर में 15.4 मिमी पानी बरसा। इसके अलावा सोमवार को सुबह 8 बजे से लेकर देर शाम, रात तक रुक-रुककर बारिश होती रही। जिसका रिकार्ड मंगलवार को काउंट किया जाएगा। मौसम विभाग व भू-अभिलेख शाखा के अनुसार जिले में इस मानसून सीजन 743.6 मिमी बारिश हो चुकी है। जो सामान्य (563.5 मिमी से) से 32 प्रतिशत ज्यादा है। अच्छी बारिश होने के बाद कृषि विभाग का अनुमान है कि जिले में 1.70 लाख हेक्टेयर रकबे में लगी धान फसल को जीवनदान मिलेगा।

जानिए, किस तहसील में कितनी बारिश दर्ज की गई
बालोद तहसील में सबसे ज्यादा 890.3, डौंडीलोहारा में 848.7, गुरूर में 724.3, अर्जुन्दा में 691.6, डौंडी में 677.9, गुंडरदेही में 628.6 मिमी बारिश हुई है।

खबरें और भी हैं...