पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भास्कर एक्सक्लूसिव:जाली सर्टिफिकेट पर पंजाब में रजिस्ट्रेशन: डायरेक्टोरेट आयुर्वेद हरियाणा के नोडल अफसर ने की थी सिफारिश

चंडीगढ़3 महीने पहलेलेखक: सुखबीर सिंह बाजवा
  • कॉपी लिंक
बोर्ड ऑफ आयुर्वेदिक एंड यूनानी सिस्टम्स ऑफ मेडिसिन ने एक आवेदन की जांच के आधार पर पुलिस को शिकायत देकर हरियाणा के एक वरिष्ठ अधिकारी बीएस संधू व संबंधित आवेदनकर्ता के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच करने की सिफारिश की है। - Money Bhaskar
बोर्ड ऑफ आयुर्वेदिक एंड यूनानी सिस्टम्स ऑफ मेडिसिन ने एक आवेदन की जांच के आधार पर पुलिस को शिकायत देकर हरियाणा के एक वरिष्ठ अधिकारी बीएस संधू व संबंधित आवेदनकर्ता के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच करने की सिफारिश की है।

पंजाब में फर्जी डिग्री के आधार पर मेडिकल प्रैक्टिस करने का मामला बोर्ड ऑफ आयुर्वेदिक एंड यूनानी सिस्टम्स ऑफ मेडिसिन के सामने आया है। यह फर्जी सर्टिफिकेट का नेक्सेस पड़ोसी राज्य हरियाणा व राजस्थान से चल रहा है। इसलिए बोर्ड ने एक आवेदन की जांच के आधार पर पुलिस को शिकायत देकर हरियाणा के एक वरिष्ठ अधिकारी बीएस संधू व संबंधित आवेदनकर्ता के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच करने की सिफारिश की है। संधू काउंसिल ऑफ इंडियन मेडिसन, हरियाणा के रजिस्ट्रार हैं।

इस समय डायरेक्टोरेट आयुर्वेद में बतौर नोडल अफसर तैनात हैं। आरोप है कि उन्होंने खुद आकर युवती की सिफारिश करते हुए कहा था कि यह केस पूरी तरह ठीक है। नेशनल कमिशन ऑफ इंडियन मेडिसिन के अध्यक्ष को भी पंजाब के बोर्ड ऑफ आयुर्वेदिक एंड यूनानी सिस्टम्स ऑफ मेडिसिन के राजिस्ट्रार डॉ. सजीव गोयल ने संधू के हरियाणा में बतौर राजिस्ट्रार पद पर तैनाती वाले कार्यकाल की जांच की मांग की है।

मोहाली के एसएसपी विवेक शील सोनी ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है। इसके लिए एक टीम गठित की गई है। बोर्ड ने मोहाली के एसएसपी को दी शिकायत में कहा, हरप्रीत कौर सुपुत्री केसर सिंह ने 18 नंबवर 2021 को बोर्ड के पास ऑनलाइन आवेदन के जरिए रजिस्ट्रेशन के लिए अप्लाई किया था। फिर 5 मई 2022 में उसने डॉ. एस.आर. राजस्थान आयुर्वेद यूनिवर्सिटी, जोधपुर से पास सर्टिफिकेट आवेदन के साथ जमा करवा दिए।

मुझे फंसाने की साजिश: संधू
मेरे खिलाफ पंजाब के बोर्ड ऑफ आयुर्वेदिक एंड यूनानी सिस्टम्स ऑफ मेडिसिन के राजिस्ट्रार डॉ.सजीव गोयल ने साजिश के तहत मोहाली पुलिस को शिकायत दी है। मैं हैरान हूं, जिस अफसर ने पहले सर्टिफिकेट बनाया है, उसी ने बाद मे कैंसिल कर दिया है। वह मेरे खिलाफ पुलिस मे फर्जी सर्टिफिकेट की शिकायत कर एफआईआर दर्ज करवाने की मांग कर रहा है। संधू ने कहा कि मैं उनके ऑफिस में नही गया, बल्कि उन्होंने मुझे अपने मोहाली स्थित अॉफिस मंे बुलाया था। गहराई तक जांच होनी चाहिए। -डॉ. बीएस संधू