पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

चंडीगढ़ में 5G सेवा को लेकर तैयारियां:इंटरनल पोर्टल विकसित किया; PM गतिशक्ति और 5G का ओवरव्यू भी पेश

चंडीगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

चंडीगढ़ प्रशासन शहर में 5G सर्विस को लेकर तेजी से तैयारियां कर रहा है। प्रशासन ने एक इंटरनल पोर्टल विकसित किया है। यह पोर्टल तेजी से और प्रभावी ढंग से टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर्स(TSP)/इंफ्रास्ट्रचर प्रोवाइडर(IP) को 5G को लेकर मंजूरियां प्रदान कर सकेगा। यह जानकारी आज चंडीगढ़ में 5G टेक्नोलॉजी को लेकर आयोजित कैपेसिटी बिल्डिंग कॉन्फ्रेंस के दौरान दी गई।

चंडीगढ़ प्रशासन के डिपार्टमेंट आफ इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी(DoIT) द्वारा राजीव गांधी चंडीगढ़ टेक्नोलॉजी पार्क, चंडीगढ़ के एंटरप्रेन्योर डेवलपमेंट सेंटर में यह कॉन्फ्रेंस आयोजित की गई थी। इसका उद्घाटन चंडीगढ़ के प्रशासन के एडवाइजर धर्म पाल ने किया और इसे चंडीगढ़ के गृह सचिव-कम-सेक्रेटरी IT नितिन कुमार ने चेयर्ड किया।

इस कॉन्फ्रेंस में 125 के लगभग प्रतिभागी थे। इस मौके पर सीनियर DDG, पंजाब LSA और डिपार्टमेंट ऑफ टेली-कम्यूनिकेशन, भारत सरकार के नेशनल ब्रोडबैंड मिशन से जुड़े DDG ने PM गतिशक्ति और 5G का अवलोकन पेश किया। यह हेल्थ, एजुकेशन आदि सेक्टर्स में एक नई क्रांति लाएगा। वहीं इंडस्ट्री से जुड़े प्रतिनिधियों ने भी अपनी प्रेजेंटेशन दी।

चंडीगढ़ में 5G टेक्नोलॉजी को लेकर आयोजित कैपेसिटी बिल्डिंग कॉन्फ्रेंस के दौरान शहर के प्रशासक के एडवाइजर धर्म पाल एवं अन्य अफसर।
चंडीगढ़ में 5G टेक्नोलॉजी को लेकर आयोजित कैपेसिटी बिल्डिंग कॉन्फ्रेंस के दौरान शहर के प्रशासक के एडवाइजर धर्म पाल एवं अन्य अफसर।

सभी हितधारकों को मिलकर काम करना होगा: एडवाइजर
कॉन्फ्रेंस में एडवाइजर ने जोर देकर कहा कि सभी हितधारकों को मिलकर चंडीगढ़ में 5G को बेहतर तरीके से शुरु करने के लिए प्रयास करने होंगे। इन हितधारकों में चंडीगढ़ प्रशासन के कई विभाग, नगर निगम, इंडस्ट्री एंड DoT, भारत सरकार के अफसर शामिल थे। वहीं सेक्रेटरी IT ने प्रशासन के IT विभाग द्वारा इंटरनल पोर्टल विकसित करने के प्रयासों की जानकारी दी।

यह पोर्टल तेजी से और प्रभावी ढंग से टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर्स(TSP)/इंफ्रास्ट्रचर प्रोवाइडर(IP) को 5G को लेकर मंजूरियां प्रदान कर सकेगा। कॉन्फ्रेंस के दौरान SIO-NIC ने इस इंटरनल पोर्टल के वर्कफ्लो की एक प्रेजेंटेशन दी।

कॉन्फ्रेंस के दौरान बताया गया कि एडवांस्ड 5G इन्फ्रास्ट्रक्चर डिजिटल इकोनॉमी और डिजिटल सोसाइटी का नर्वस सिस्टम बन जाएगा। ऐसे में अफसरों और कर्मियों तथा इंडस्ट्री से जुड़े लोगों के लिए यह समझना महत्त्वपूर्ण है कि किस प्रकार 5G पूरा परिदृश्य ही बदल देगा। इसीलिए भारत सरकार के डिपार्टमेंट ऑफ टेली कम्युनिकेशन के सहयोग से यह कॉन्फ्रेंस आयोजित की गई थी।