पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पंजाब CM चन्नी का PM पर वार:सरदार पटेल का कथन लिखा- जिसे कर्तव्य से ज्यादा जान की फिक्र हो, उसे भारत जैसे देश की बड़ी जिम्मेदारी नहीं लेनी चाहिए

चंडीगढ़6 महीने पहलेलेखक: मनीष शर्मा
  • कॉपी लिंक

पंजाब के फिरोजपुर में सुरक्षा चूक के मामले में सीएम चरणजीत चन्नी ने सरदार वल्लभभाई पटेल की कही बात से पीएम नरेंद्र मोदी को घेरा है। सीएम चन्नी ने सरदार पटेल की फोटो समेत कथन को ट्वीट किया है। जिसमें सरदार पटेल के हवाले से लिखा गया है कि 'जिसे कर्तव्य से ज्यादा जान की फिक्र हो, उसे भारत जैसे देश में बड़ी जिम्मेदारी नहीं लेनी चाहिए।' CM ने इसमें सीधे पीएम मोदी का नाम तो नहीं लिखा, लेकिन इशारों में उन्हीं पर निशाना साधा है।

डिप्टी सीएम ने 'पंजाब विरोधी मोदी' का हैशटेग भी लगाया

CM चरणजीत चन्नी के ट्वीट के बाद पंजाब में गृह मंत्रालय देख रहे डिप्टी सीएम सुखजिंदर रंधावा ने भी इसे ट्वीट किया। रंधावा ने इसके साथ पंजाब माफ नहीं करेगा, 70,000 कुर्सी 700 बंदे और पंजाब विरोधी मोदी के हैशटेग भी लगा दिए। सुखजिंदर रंधावा का गुस्सा इसलिए भी ज्यादा है क्योंकि पंजाब में गृह मंत्रालय वही देख रहे हैं। ऐसे में सुरक्षा चूक को लेकर उनकी बर्खास्तगी तक की मांग की जा रही है।

भाजपा ने दिया 'पंजाब माफ नहीं करेगा' से जवाब

पंजाब भाजपा भी राज्य की कांग्रेस सरकार को जवाब देने से पीछे न रही। पंजाब भाजपा के अध्यक्ष अश्वनी शर्मा ने पंजाब माफ नहीं करेगा के हैशटेग से लिखा कि पंजाब को मिलने वाली सौगात कांग्रेस ने रोक दी। पंजाब को 39,500 करोड़ रुपए में दिल्ली-अमृतसर-कटरा एक्सप्रेस-वे, 1700 करोड़ में अमृतसर-ऊना फोर लेन, 490 करोड़ में फिरोजपुर में पीजीआई सेटेलाइट सेंटर और 325 करोड़ में कपूरथला और होशियारपुर में 2 मेडिकल कॉलेज मिलने थे। जो पीएम की सुरक्षा चूक के बाद रह गए।

कांग्रेस इसे पंजाब Vs भाजपा की लड़ाई बना रही

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फिरोजपुर रैली में सुरक्षा चूक के मामले में घिरी कांग्रेस इसे पंजाब Vs भाजपा की लड़ाई बना रही है। भाजपा इसे पंजाब सरकार की कमजोरी और कांग्रेस की साजिश करार दे रही है। वहीं कांग्रेस इसे पंजाब का अपमान करार दे रही है। सीएम चन्नी से लेकर कांग्रेस प्रधान नवजोत सिद्धू भी पीएम की जिंदा बचकर आने की बात को पंजाब और पंजाबियत से जोड़ रहे हैं।

कांग्रेस लगातार इस बात को उठा रही है कि पंजाबियों ने आजादी के संघर्ष के दौरान 90% कुर्बानी दी। पंजाब के सपूतों की हर रोज तिरंगे में लिपटी लाश घर आती है। ऐसे में भाजपा को पंजाब को बदनाम नहीं करना चाहिए।

प्रदर्शनकारियों के जाम से फ्लाईओवर पर फंसा पीएम मोदी का काफिला फंस गया था।
प्रदर्शनकारियों के जाम से फ्लाईओवर पर फंसा पीएम मोदी का काफिला फंस गया था।

चुनाव के चलते गरमाया माहौल

पंजाब में जल्द विधानसभा चुनाव हैं। ऐसे में पीएम नरेंद्र मोदी की सुरक्षा चूक से भाजपा राजनीति के केंद्र में आ गई है। अभी तक किसान आंदोलन की वजह से भाजपा पंजाब में हाशिए पर थी। खासकर, अकाली दल से गठजोड़ टूटने के बाद भाजपा की राजनीतिक हालत कमजोर नजर आ रही थी।

वहीं, कांग्रेस किसान आंदोलन को भुनाने की ताक में थी। हालांकि पीएम ने अचानक कानून वापस लेकर यह मुद्दा छीन लिया। इसीलिए अब सीएम चन्नी और सिद्धू सुरक्षा चूक को किसान आंदोलन की नाराजगी से जोड़ते हुए भुना रहे हैं। वहीं भाजपा इसे पंजाब की आंतरिक सुरक्षा के साथ पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह के सहारे राष्ट्रीय सुरक्षा से जोड़ रही है।

पंजाब का करीब 600 किमी बॉर्डर पाकिस्तान से सटा है। चुनाव से पहले उसकी सुरक्षा में कांग्रेस सरकार की कमजोरी साबित की जा रही है।

खबरें और भी हैं...