पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Chandigarh
  • Now The Lane System Started At The Intersections Of Chandigarh, Vehicles Will Stop Behind The Stop Line Marking; Road Accidents Will Come Down

चंडीगढ़ के चौराहों पर लेन सिस्टम शुरू:अब स्टॉप लाइन मार्किंग के पीछे रुकेंगे वाहन; फायदा- सड़क हादसों में आएगी कमी

चंडीगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चंडीगढ़ के सेक्टर 8/7/19/18 चौक पर स्टॉप लाइन मार्किंग को लेकर जागरूक किया जा रहा है।

चंडीगढ़ ट्रैफिक पुलिस ने शहर में सड़क हादसे कम करने की दिशा में एक पहल की है। इसके तहत शहर के चौराहों पर स्टॉप लाइन मार्किंग की जा रही है। वाहन चालकों को लाल बत्ती पर इस स्टॉप लाइन के पीछे ही गाड़ी रोकने के लिए जागरूक किया जा रहा है।

स्टॉप लाइन के पीछे सड़क को मार्किंग करके तीन भागों में बांटा गया है। लेन में ऐरो के निशान भी बनाए गए हैं। वाहन चालकों को चौक से सीधा जाने, बाएं-दाएं जाने और यूटर्न लेने के हिसाब से लाल बत्ती पर वाहन खड़ा करने के लिए कहा जा रहा है।

इसकी शुरुआत सेक्टर 8/7/19/18 के चौक से की गई है। चौक के चारों तरफ यह स्टॉप लाइन मार्किंग की गई है। ट्रैफिक पुलिस के जवान बाकायदा चौक के पास खड़े होकर माइक पर इसकी जानकारी लोगों को दे रहे हैं।

ट्रैफिक पुलिस के मुताबिक, इस शुरुआत से सड़क हादसों में कमी आएगी। चंडीगढ़ ट्रैफिक पुलिस लोगों को कह रही है कि जब भी वाहन चालक चौक के पास आए तो स्टॉप लाइन के पीछे ही रुकें। वहीं लाइन से पीछे तीन लेन में ऐरो के निशान लगे हुए है।

इस प्रकार करें पालना

दाएं, मध्य और बाएं तरफ लेन में ऐरो लगे हैं। जिस भी चालक ने यूटर्न लेना हो या दाएं जाना हो तो वह चौक के साथ पहली और ज्यादा ट्रैफिक की स्थिति में मध्य वाली लेन पर स्टॉप लाइन के पीछे रुकेगा। वहीं जिसने दाएं जाना हो वह मध्य वाली लेन में रुकेगा। जिसने चौक से सिर्फ सीधा (बाएं) जाना हो वह बाएं तरफ वाले लेन में स्टॉप लाइन के पीछे रुकेगा। जिन सड़कों पर ऐरो नहीं लगे हुए हैं, वहां भी इस नियम की पालना करने को कहा गया है।

इंडीकेटर का भी इस्तेमाल जरूर करें

ट्रैफिक पुलिस लोगों को जागरुक कर रही है कि सड़क पर चौक आदि क्रॉस करते वक्त इंडीकेटर का इस्तेमाल जरूर करें। जिस तरफ भी टर्न लेना हो, वहां का इंडीकेटर अवश्य दें। ट्रैफिक पुलिस का कहना है कि लेन तोड़ने के चलते सड़कों पर ट्रैफिक जाम और दुर्घटनाएं बढ़ती हैं। सड़क पर तीन लेन बनाई गई है। हर लेन में एक ऐरो से जानकारी दी गई है। वहीं ट्रैफिक पुलिस ने कहा है कि सड़क पर गुजरने वाली एंबुलेंस को जगह दें।

सड़क हादसों में इतनों की जा चुकी जान

वर्ष 2020 में चंडीगढ़ में 50 ऐसे सड़क हादसे हुए थे, जिनमें 53 लोगों की जान चली गई थी। बीते वर्ष 92 सड़क हादसों में 94 लोगों की मौत हुई थी। आंकड़ों के मुताबिक, ज्यादातर सड़क हादसों में टू व्हीलर चालकों और सवारियों की मौत होती है। सड़कों पर पैदल जा रहे लोगों की मौतें भी वर्ष 2020 के मुकाबले 2021 में दोगुणी हो गई थी।

वर्ष 2021 में कुल 92 सड़क हादसों में से 51 ओवर स्पीड, 18 उतावलेपन और लापरवाही भरी ड्राइविंग से और 3 हादसे गलत दिशा में वाहन चलाने के कारण हुए थे। 10 जानलेवा हादसों में आरोपी चालक शराब के नशे में पाए गए थे। शराब के नशे में ट्रैफिक लाइट प्वाइंट्स जंप करने के चलते यह हादसे हुए।