पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Chandigarh
  • Discussion Between The Two Regarding Punjab Elections And Farmers' Movement, Captain's Growing Closeness With BJP

CM मनोहर से मिलने पहुंचे कैप्टन:पंजाब के चुनाव और किसान आंदोलन पर हुई चर्चा, अमरिंदर बोले- मैं तो कॉफी पीने आया था

चंडीगढ़7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सोमवार को हरियाणा के CM मनोहर लाल से उनके आवास पर मुलाकात की। कैप्टन साढ़े 12 बजे CM आवास पर पहुंचे। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मुलाकात के बारे में कहा कि वो सिर्फ शिष्टाचार के नाते कॉफी पीने मुख्यमंत्री मनोहर लाल से मिलने आए हैं। हालांकि जानकारी मिल रही है कि दोनों ने आधे घंटे तक किसान आंदोलन और पंजाब चुनाव पर चर्चा की है।

कैप्टन की CM के साथ मुलाकात के पीछे भाजपा के साथ बढ़ रही नजदीकी, पंजाब चुनाव और किसान आंदोलन है। केंद्र सरकार चाहती है कि तीन कृषि कानून वापसी होने के बाद अब किसान लौट जाएं। कैप्टन भी किसानों को वापस लौटने की अपील कर चुके हैं। ऐसे में यह मुलाकात किसान आंदोलन और पंजाब में चुनावों को लेकर महत्वपूर्ण है। दोनों ने किसान आंदोलन के समय रिश्तों में आई तल्खी को कम किया।

CM मनोहर लाल के आवास पर पहुंचे कैप्टन अमरिंदर सिंह।
CM मनोहर लाल के आवास पर पहुंचे कैप्टन अमरिंदर सिंह।

मनोहर ने कैप्टन पर लगाए थे किसानों को उकसाने के आरोप
किसान आंदोलन में कैप्टन और मनोहर के रिश्तों में तल्खी आ गई थी। दोनों के बीच जमकर ट्विटर वार चली। दरअसल, किसानों ने 26 नवंबर और 28 नवंबर 2020 को बड़े प्रदर्शन की तैयारी की थी। हरियाणा और पंजाब के किसानों ने दिल्ली कूच किया। पंजाब के तत्कालीन CM कैप्टन अमरिंदर सिंह खुलकर किसान आंदोलन के समर्थन में थे। उस समय मनोहर लाल ने कैप्टन पर आंदोलन को उकसाने और बढ़ावा देने के आरोप लगाए थे। कानून व्यवस्था के लिए कैप्टन को CM मनोहर ने फोन भी किया था, लेकिन उन्होंने फोन उठाया नहीं था। दोनों ने ट्विटर पर एक दूसरे के खिलाफ कई आरोप लगाए थे।

पंजाब चुनाव और किसान आंदोलन के लिए बैठक अहम
पंजाब में जल्द चुनाव होने जा रहे हैं और कैप्टन अमरिंदर सिंह कांग्रेस छोड़कर अपनी पार्टी बनाने की घोषणा कर चुके हैं। पूरी संभावना है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह भारतीय जनता पार्टी के साथ मिलकर चुनाव लड़ सकते हैं। पंजाब क्योंकि हरियाणा का सीमावर्ती राज्य है ऐसे में कैप्टन और मुख्यमंत्री मनोहर लाल की मुलाकात के बाद कई कयास लग रहे हैं।

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने 3 सप्ताह के भीतर चुनाव आयोग में नई पार्टी रजिस्टर कराने के लिए प्रक्रिया शुरू कर दी है। कैप्टन ने इस बात के भी संकेत दिए कि पंजाब की राजनीति में कई बड़े चेहरे उनसे जुड़ने जा रहे हैं। वहीं संसद से किसान कानूनों की वापसी के विधेयक के पास होने पर कैप्टन ने इस बात की ओर भी इशारा किया कि जल्द ही दिल्ली जाकर केंद्रीय मंत्रियों से मुलाकात करेंगे।

खबरें और भी हैं...