पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी स्टूडेंट किडनैपिंग केस:खरड़ कोर्ट में चार्जशीट दायर; हनीट्रैप मामले में फंसाकर मांगी थी 50 लाख की फिरौती

चंडीगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब में मोहाली स्थित घड़ुआं स्थित चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी(CU) के 20 वर्षीय इंजीनियरिंग स्टूडेंट हितेश भूमरा को हनीट्रैप का शिकार बना कर बंधक बनाया गया था। परिवार से 50 लाख रुपए फिरौती मांगी गई थी। इस मामले में खरड़ कोर्ट में चार्जशीट दायर कर दी गई है।

CU में ही पढ़ने वाली MBA की स्टूडेंट राखी समेत उसके दोस्तों ने हितेश की किडनैपिंग की थी। उसे ड्रग देकर कुर्सी के साथ बांध कर रखा हुआ था। खरड़ के रंजीत नगर के एक किराए के फ्लैट में हितेश बंधक बनाया गया था। पुलिस ने 48 घंटे में ही इस केस को सुलझा लिया था।

खरड़ की कोर्ट में पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ IPC की धारा 323, 346, 328, 364 ए, 365, 468, 471, 482 तथा आर्म्स एक्ट की धारा 25, 54 और 59 के तहत चालान पेश किया है। कोर्ट ने अब आरोपियों को 3 दिसंबर को कोर्ट में पेश करने के आदेश दिए हैं।

अगस्त 2022 में यह किडनैपिंग केस सामने आया था। आरोपियों ने फिरौती के लिए पूरी प्लानिंग की हुई थी। पुलिस टीम को आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए उत्तराखंड, हरियाणा और उत्तर प्रदेश तक जाना पड़ा था।

आरोपियों के कब्जे से पुलिस ने एक लग्जरी कार, 5 मोबाइल फोन, .32 की पिस्टल और 9 बुलेट बरामद की थी। तीनों आरोपी हरियाणा के रहने वाले थे। इनमें से एक आरोपी MBBS और दूसरा MBA कर रहा था। वहीं हितेश CU में बैचलर इन इंजीनियरिंग का स्टूडेंट था। वह CU के हॉस्टल में रह रहा था।

तीनों आरोपी पुराने फ्रेंड्स थे
पुलिस के मुताबिक, तीनों आरोपी मोगा में साथ पढ़ते थे। आरोपी राखी मुख्य आरोपी अजय कादियान की 'क्लोज़ फ्रेंड' थी। अजय कादियान (25) पानीपत के जत्तल गांव का रहने वाला था। अजय पुनिया (22) सिरसा के अबूद गांव और राखी (20) सोनीपत के बरोली गांव की निवासी थी।

पुलिस ने जांच के दौरान किडनैपिंग केस से संबंधित मकान मालिक रंजीत नगर निवासी को भी पूछताछ के लिए बुलाया था। पीड़ित स्टूडेंट हितेश मूलरूप से लुधियाना का रहने वाला है। उसके पिता लुधियाना में एक निजी फर्म में मैनेजर हैं।

मोहाली पुलिस ने 48 घंटों में यह केस सुलझा लिया था।
मोहाली पुलिस ने 48 घंटों में यह केस सुलझा लिया था।

किडनैपर्स ने धमकाया था कि हाथ-पैर तोड़ देंगे
हितेश के परिवार ने पुलिस को शिकायत दी थी कि उनका बेटा किडनैप कर लिया गया है। किडनैपर्स फिरौती मांग रहे हैं। किडनैपर्स ने कहा था कि पुलिस को जानकारी दी तो हितेश के हाथ-पैर तोड़ देंगे। वहीं किडनैपर्स परिवार को चकमा देते हुए फिरौती की रकम पहुंचाने के लिए अलग-अलग लोकेशन बताते गए, ताकि ट्रैप न हो पाएं। पंजाब पुलिस ने कुरुक्षेत्र पुलिस की CIA की सहायता से आरोपियों को दबोच लिया था।

पुलिस ने किडनैपर्स और हितेश के परिवार के बीच फिरौती की कॉल के आधार पर किडनैपर्स का पीछा किया। आरोपियों के खिलाफ फिरौती के लिए किडनैपिंग, किसी को गलत ढंग से कैद में रखने समेत अन्य आपराधिक धाराओं में खरड़ पुलिस थाने में केस दर्ज हुआ। आरोपी अजय पुनिया डॉ. बीआर अंबेडकर स्टेट इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस, फेज 6 मोहाली से MBBS कर रहा था। राखी चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी से MBA कर रही थी। अजय कादियान की दवाइयों की दुकान है।

फर्जी प्रोफाइल बनाई थी
जांच में पता चला था कि आरोपी राखी ने फर्जी सोशल मीडिया प्रोफाइल बनाई हुई थी। इंस्टाग्राम और फेसबुक पर हितेश के साथ दोस्ती करके उसे मिलने के लिए बुलाया था। हितेश जब राखी से मिलने के लिए मोहाली-खरड़ हाईवे पर एक VR मॉल के पास पहुंचा तो राखी एवं अजय कादियान ने उसे किडनैप कर लिया। हितेश को राखी ने कहा कि घर में एक पार्टी रखी है।