पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

चंडीगढ़ भाजपा के 2 नेता पुलिस हिरासत में:CHB की अतिक्रमण के खिलाफ ड्राइव में रुकावट डालने पर हुई कार्रवाई

चंडीगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

चंडीगढ़ में लगातार नगर निगम, एस्टेट ऑफिस और चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड(CHB) की अतिक्रमण के खिलाफ कानूनी कार्रवाई में नेता रुकावट खड़ी कर रहे हैं। आज सेक्टर 29 में CHB की टीम पुलिस सुरक्षा के बीच अवैध रूप से घरों में खड़े किए गए ढांचों को गिराने पहुंची थी। मौके पर चंडीगढ़ भाजपा के कुछ नेता पहुंच गए और सरकारी काम में बाधा खड़ी करते हुए CHB के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। मौके पर इंडस्ट्रियल एरिया थाना SHO राम रतन भी पहुंच गए।

भाजपा नेता नरेश अरोड़ा और हाल ही में भाजपा में शामिल हुए शशि शंकर तिवारी और अन्यों को पुलिस ने समझाने की कोशिश की, मगर वह लगातार मुर्दाबाद के नारे लगाते रहे। जिसके बाद इन्हें हिरासत में लिया गया। पुलिस इन्हें गाड़ी में बिठा ले गई। जिसके बाद विभाग की अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई चलाई गई। स्थानीय थाना SHO ने बताया कि इन्हें कुछ समय के लिए पकड़ा गया था और बाद में छोड़ दिया गया। तिवारी ने कहा कि बोर्ड ने चंडीगढ़ पुलिस के रिटायर इंस्पेक्टर जितेंद्र कुमार एव अन्यों का घरों में तोड़फोड़ की। थाने के बाहर भी भाजपा नेताओं ने नारेबाजी की।

चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड ने सेक्टर 29 बी में 4 घरों में अवैध निर्माण को गिराया। इनमें अवैध निर्माण अतिरिक्त स्टोरी, कैंटीलीवर, गैरकानूनी RCC सीढ़ियां और सरकारी जमीन में किया अतिक्रमण शामिल था। वहीं हाउसिंग बोर्ड डेमोलिशन ड्राइव पर आए खर्च का भी हिसाब कर रहा है। यह रकम अतिक्रमण करने वाले अलॉटियों से वसूली जाएगी। वहीं यह रकम न देने पर अलॉटमेंट कैंसिल करने की चेतावनी भी दी गई है। वहीं कहा गया है कि सरकारी जमीन पर किए गए अतिक्रमण को बिना नोटिस जारी किए गिरा दिया जाएगा।

भाजपा नेता चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड की कार्रवाई में डाल रहे थे रुकावट।
भाजपा नेता चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड की कार्रवाई में डाल रहे थे रुकावट।

बोर्ड के कर्मियों को अवैध निर्माण के खिलाफ ड्राइव में स्थानीय लोगों के गुस्से का भी सामना करना पड़ा। हालांकि पुलिस की मौजूदगी में यह ड्राइव चलाई गई। बता दें कि शहर में लगातार अवैध रूप से ढांचे खड़े करने वालों को स्थानीय नेताओं की शह मिलती रही है। ऐसे में अवैध निर्माणों पर कार्रवाई करने में रुकावट भी पैदा होती है।

चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड के चीफ एग्जीक्यूटिव अफसर(CEO) यशपाल गर्ग ने कहा कि शहर में कई सेक्टरों में अवैध निर्माणों की सूची तैयार की गई है। विभाग की ओर से आगे भी ऐसी ड्राइव चलाई जाएंगी।

चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड ने 29 बी में 4 घरों में हुए अवैध निर्माणों को गिराया।
चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड ने 29 बी में 4 घरों में हुए अवैध निर्माणों को गिराया।

बोर्ड ने जारी की चेतावनी
बोर्ड ने साफ किया है कि ताजा गैरकानूनी अवैध ढांचे खड़े नहीं होने दिए जाएगें। वहीं सरकारी जमीन पर अवैध निर्माणों को भी रोका जाएगा। बोर्ड इसके लिए जीरो टोलरेंस पॉलिसी अपनाए हुए है। बोर्ड ने अलॉट मकानों में अवैध ढांचे खड़े करने वालों को चालान/डेमोलिशन नोटिस जारी करते हुए कहा है कि खुद ही यह वॉयलेशन हटा दें वर्ना बोर्ड इसे तोड़ देगा। वहीं अलॉटियों को कहा गया है कि वह एक बार तोड़े जाने के बाद दोबारा अवैध निर्माण न करें। इस प्रकार के बिल्डिंग प्लान की उल्लंघना कर किए गए अवैध निर्माण साथ ही यूनिट्स की सुरक्षा के प्रति भी एक बड़ा खतरा है।