पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वैक्सीन के 'एक्स्ट्रा डोज' पर CS का DM को झूठ:28 जनवरी 2021 को पैन कार्ड पर वैक्सीनेशन कराया, मीडिया में फोटो भी आई

पटना6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
28 जनवरी 2021 को टीका लेती सिविल सर्जन की तस्वीर 29 जनवरी 2021 को मीडिया रिपोर्ट्स में आई थी। - Money Bhaskar
28 जनवरी 2021 को टीका लेती सिविल सर्जन की तस्वीर 29 जनवरी 2021 को मीडिया रिपोर्ट्स में आई थी।

वैक्सीन की 5 डोज लेने वाली पटना की सिविल सर्जन डॉ विभा सिंह ने DM को दी गई अपनी सफाई में भी झूठ बोला है। एक झूठ छुपाने के लिए अब वह कई झूठ बोल रही हैं और अधिकारियों की आंख में धूल झोंक रही हैं। डॉ विभा सिंह ने दावा किया है कि उन्होंने 28 जनवरी 2021 को वैक्सीन नहीं ली है। लेकिन सच तो यह है कि उन्होंने इस तारीख को ही पहली बार वैक्सीन भी ली है, जैसा भास्कर ने अपने खुलासे में बताया है। इसकी सबूत वो तस्वीरें हैं, जो अगले दिन 29 जनवरी 2021 को मीडिया में आई थीं।

भास्कर के खुलासे के बाद पटना के DM चंद्रशेखर सिंह की ओर से प्रतिक्रिया आई है। इसमें कहा गया है कि अतिरिक्त वैक्सीन लेने का सिविल सर्जन द्वारा खंडन किया गया है, तथा मामले की जांच कर कड़ी कार्रवाई करने को कहा गया है। DM के अनुसार सिविल सर्जन द्वारा कहा गया है कि -

“मैंने अपने आधार नम्बर के माध्यम से covishild vaccine के दो निर्धारित डोज़ एवं एक precautionary डोज़ लिया है। आधार नम्बर के अलावा किसी भी अन्य Id का प्रयोग मेरे स्तर से नहीं किया गया है। मेरे अन्य Id का दुरुपयोग जिस स्तर से भी हुआ है, उसकी पहचान कर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।”

इस गंभीर मामले में जांच रिपोर्ट का इंतजार है। स्वास्थ्य विभाग में पूरी तरह से हड़कंप मचा है।हर कोई जानना चाहता है कि सिविल सर्जन झूठ बोल रहीं या फिर कागजात झूठे हैं।
इस गंभीर मामले में जांच रिपोर्ट का इंतजार है। स्वास्थ्य विभाग में पूरी तरह से हड़कंप मचा है।हर कोई जानना चाहता है कि सिविल सर्जन झूठ बोल रहीं या फिर कागजात झूठे हैं।

​​​​​​क्या कहती है मीडिया रिपोर्ट
28 जनवरी 2021 को हुए वैक्सीनेशन की कवरेज की रिपोर्ट पटना के स्थानीय मीडिया में अगले दिन 29 जनवरी 2021 को आई थी। मीडिया रिपोर्ट्स में हेडिंग लगाई कि सिविल सर्जन सहित 1179 ने लगवाई कोरोना की वैक्सीन। बताया गया है कि गुरुवार 28 जनवरी को पटना की सिविल सर्जन डॉ विभा सिंह, जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ एसपी विनायक, डब्लूएचओ के एमओ डॉ एसएस त्रिपाठी समेत 1149 स्वास्थ्यकर्मियों ने कोरोना का टीका लिया।

रिपोर्ट में बताया गया कि जिले के 26 जगहों पर टीकाकरण अभियान चला। गर्दनीबाग अस्पताल में गुरुवार को ही टीकाकरण शुरु हुआ। सिविल सर्जन और डीआईओ ने यहीं पर टीका लिया। यह रिपोर्ट पटना से प्रकाशित होने वाले सभी बड़े अखबारों में प्रकाशित हुई थी। टीका लेगवाती सिविल सर्जन की तस्वीर भी इसी दिन की है। इस दिन ही सिविल सर्जन ने रजिस्ट्रेशन के लिए अपने पैनकार्ड का इस्तेमाल किया था। आज वो इसी दिन लिए गए टीके का खंडन कर रही हैं।

सिविल सर्जन के जवाब पर भास्कर के 3 बड़े सवाल

  • सवाल एक - अगर सिविल सर्जन ने आधार कार्ड के अलावा किसी आईडी से रजिस्ट्रेशन नहीं कराया है तो 29 जनवरी 2021 को मीडिया रिपोर्ट में सिविल सर्जन की वैक्सीन लेते फोटो कहां से आई?
  • सवाल दो - सिविल सर्जन ने आधार कार्ड से 6 फरवरी 2021 को पहला डोज लिया है, तो 28 जनवरी 2021 को उन्होंने पैन कार्ड के रजिस्ट्रेशन पर वैक्सीन क्यों ली और उसकी फोटो किसने मीडिया को दिया?
  • सवाल तीन - सिविल सर्जन ने कहा कि उनकी ID का दुरुपयोग किया गया है तो 28 जनवरी 2021 को उन्होंने रजिस्ट्रेशन से पहले कैसे वैक्सीन लगवाई?
डॉ विभा कुमारी सिंह की फाइल फोटो।
डॉ विभा कुमारी सिंह की फाइल फोटो।

निष्पक्ष जांच हुई तो होगा बड़ा खुलासा
पटना के DM डॉ चंद्रशेखर सिंह ने दो रजिस्ट्रेशन से 5 डोज लेने के मामले में जांच का आदेश दे दिया है। अगर जांच निष्पक्ष हुई तो इसमें बड़े फर्जीवाड़े का खुलासा होगा। अब तक भास्कर के हाथ जो भी सबूत लगे हैं, इससे साफ हो रहा है कि जिस रजिस्ट्रेशन को सिविल सर्जन फर्जी बता रही हैं, उसी पर उन्होंने वैक्सीन का पहला डोज लिया है।

यह है पूरा मामला
दैनिक भास्कर ने आज पटना की सिविल सर्जन डॉ विभा कुमारी सिंह द्वारा पैन कार्ड और आधार कार्ड के प्रयोग से दो रजिस्ट्रेशन पर 5 डोज लेने का खुलासा किया है। भास्कर के खुलासे के बाद से ही हड़कंप मच गया। सिविल सर्जन ने पटना के DM डॉ चंद्रशेखर सिंह से साफ कहा है कि उन्होंने पैन कार्ड पर कोई वैक्सीन नहीं लगवाई हैं। सिर्फ अपने आधार कार्ड पर रजिस्ट्रेशन कराया है, जिस पर 5 फरवरी 2021 को पहला, 12 मार्च 2021 को दूसरा तथा 13 जनवरी 2022 को तीसरा यानी प्रिकॉशन डोज लगवाया है।

खबरें और भी हैं...