पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX61765.590.75 %
  • NIFTY18477.050.76 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47184-1.49 %
  • SILVER(MCX 1 KG)62935-0.03 %
  • Business News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Many Ministers And Leaders, Including The Deputy Chief Minister, Also Arrived To Pay Tribute To The Family Members, Nitish Said Sadanand Singh Was Our Guardian, An Era Ended With His Death

श्राद्धकर्म में शामिल हुए मुख्यमंत्री:परिजनों से मिलकर दी सांत्वना, श्रद्धांजलि देने उपमुख्यमंत्री समेत कई मंत्री और नेता भी पहुंचे, नीतीश बोले-सदानंद सिंह हमारे अभिभावक थे, उनके निधन से एक युग का अंत

पटनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सदानंद सिंह को श्रद्धांजलि अर्पित करते सीएम नीतीश कुमार। - Money Bhaskar
सदानंद सिंह को श्रद्धांजलि अर्पित करते सीएम नीतीश कुमार।

बिहार विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष सदानंद सिंह के श्राद्धकर्म में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद सहित कई मंत्री, विधायक व विभिन्न दलों के नेता शामिल हुए। सबने उन्हें श्रद्धांजलि दी। मुख्यमंत्री ने सदानंद सिंह की धर्मपत्नी मीना देवी, पुत्र शुभानंद मुकेश, पुत्रवधू डाॅ. रिचा अंगिक व परिजनों से मुलाकात कर उन्हें सांत्वना दी।

उन्होंने कहा कि सदानंद सिंह हमलोगों के अभिभावक थे। उनके जाने से बिहार की राजनीति में एक युग का अंत हो गया। मुख्यमंत्री हेलिकॉप्टर से पहुंचे। उनके साथ शिक्षा मंत्री विजय चौधरी व भवन निर्माण मंत्री डॉ.अशोक चौधरी भी थे। मंत्री सम्राट चौधरी, जिवेश कुमार, शाहनवाज हुसैन, श्रवण कुमार, सुशील मोदी समेत बड़ी संख्या में नेताओं ने श्रद्धांजलि अर्पित की।

कांग्रेस की राज्य सरकार से मांग- कहलगांव का नाम ‘सदानंद नगर’ किया जाए
बिहार कांग्रेस ने अपने पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रहे सदानंद सिंह की स्मृति में कहलगांव शहर का नाम ‘सदानंद नगर’ करने की मांग राज्य सरकार से की है। रविवार को कहलगांव में उनका श्राद्ध कार्यक्रम संपन्न हुआ जिसमें कांग्रेस, भाजपा, जदयू समेत कई पार्टियों के नेताओं ने शिरकत की और श्रद्धांजलि अर्पित की।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी कहलगांव जाकर स्व. सदानंद सिंह को श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर बिहार कांग्रेस के अध्यक्ष डाॅ. मदन मोहन झा ने भागलपुर के प्रमुख चौराहे पर उनकी आदमकद प्रतिमा लगाने की मांग राज्य सरकार से की। बिहार सरकार को उनकी जयंती और पुण्यतिथि राजकीय सम्मान से मनाने और भागलपुर के प्रमुख चौराहे पर उनकी आदमकद प्रतिमा लगाने की घोषणा करनी चाहिए। वहीं पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अनिल शर्मा ने मुख्यमंत्री से अनुरोध किया कि कहलगांव में उनकी आदमकद प्रतिमा लगाई जाए।

लालू प्रसाद नहीं चाहते थे सदानंद सिंह कभी सांसद बनें : सुशील मोदी
पूर्व उपमुख्यमंत्री व राज्यसभा सांसद सुशील कुमार मोदी ने कहा कि सदानंद बाबू की इच्छा थी कि वे एक बाद एमपी बनें, लेकिन राजद के तत्कालीन सुप्रीमो लालू प्रसाद के कारण उनका सपना साकार नहीं हो सका। मोदी भागलपुर के सर्किट हाउस में पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सदानंद बाबू से मेरा व्यक्तिगत संबंध रहा है।

उनकी मदद हमें मिलती रही। सभी दलों के लोग उनके प्रशंसक हैं। अगर मैं भागलपुर का सांसद और उपमुख्यमंत्री बना तो इसमें कहीं न कहीं सदानंद बाबू का भी योगदान रहा है। मैं उनका अहसानमंद हूं। सदानंद बाबू न सिर्फ भागलपुर के बल्कि बिहार की धरोहर थे। 8 बार चुनाव जीतना कोई मामूली बात नहीं है।

खबरें और भी हैं...