पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बिहार में तेज रफ्तार पछुआ ने बढ़ाई कनकनी:राज्य का औसत न्यूनतम तापमान 7 से 10 डिग्री, अगले 3 दिनों में 2 डिग्री तक गिरेगा पारा

पटना4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पटना के राजीव नगर इलाके से सोमवार सुबह की तस्वीर। - Money Bhaskar
पटना के राजीव नगर इलाके से सोमवार सुबह की तस्वीर।

बिहार में पछुआ हवा की तेज रफ्तार ने कनकनी बढ़ा दी है। 24 घंटे में पश्चिमी हवा के प्रभाव से न्यूनतम तापमान में गिरावट हुई है। अगले दो से तीन दिनों में भी हवा का पूरा प्रभाव दिखाई पड़ेगा। कई इलाकों में 10 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से हवा चल रही है। कनकनी के साथ धुंध और कोहरे का असर भी राज्य के कुछ इलाकों में देखने को मिल सकता है। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक, आने वाले दो से तीन दिनों में राज्य के औसत न्यूनतम तापमान में कमी के आसार हैं।

मौसम विभाग के मुताबिक, 24 घंटे में राज्य का मौसम पूरी तरह से शुष्क रहा है। पूर्वी बिहार के एक या दो स्थानों पर हल्का कोहरा छाया रहा। राज्य में सबसे कम न्यूनतम तापमान 7.4 डिग्री सेल्सियस गोपालगंज में रिकॉर्ड किया गया, जबकि सर्वाधिक अधिकतम तापमान 25.2 डिग्री सेल्सियस फारबिसगंज में दर्ज किया गया। राज्य का औसत न्यूनतम तापमान 7 से 10 डिग्री सेल्सियस एवं औसत अधिकतम तापमान 20 से 22 डिग्री के आस पास रहा। पटना का पारा गिरकर 9.4 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया, जबकि गया का तापमान 10.4 डिग्री रिकार्ड किया गया।

2 से 3 दिनों में ऐसे बदलेगा मौसम

मौसम विभाग का कहना है कि राज्य भर में सतह से 1.5 किलोमीटर ऊपर तक तेज पछुआ हवा का प्रवाह जारी है। पछुआ हवा के प्रभाव से अगले दो से तीन दिनों तक न्यूनतम में दो से तीन डिग्री सेल्सियस की गिरावट हो सकती है, लेकिन इसके बाद भी राज्य का मौसम आम तौर पर शुष्क बना रहेगा। आसमान के मुख्य रूप से साफ रहने की भी संभावना है। इस दौरान राज्य के अलग-अलग स्थानों में सुबह के समय हल्के से मध्यम स्तर का कोहरा अथवा धुंध का प्रभाव अगले दो से तीन दिनों तक देखा जा सकता है।

कनकनी से लोगों की बढ़ी परेशानी

पछुआ का प्रभाव दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रही है। रविवार शाम और रात में ठंड का काफी असर रहा है। कनकनी बढ़ गई है, जिससे रात में यात्रा करने वालों या घर से बाहर निकलने वालों को काफी समस्या का सामना करना पड़ा है। रात में ठंड के कारण लोगों को काफी परेशानी हुई है। ऐसे लोगों को अधिक परेशानी हुई है जिन्हें रात में बाहर निकलना रहा और वह कनकनी के कारण काफी परेशान हुए।