पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57684.791.09 %
  • NIFTY17166.91.08 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47590-0.92 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61821-0.24 %

पटना यूनिवर्सिटी के गेट पर भूख हड़ताल:UG कोर्सेज में एडमिशन में बिहार बोर्ड के स्टूडेंट्स के लिए मांगा 50% आरक्षण; AISA ने कहा- जब तक मांग पूरी नहीं होती तब तक चलेगा छात्रों का आंदोलन

पटना3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विश्वविद्यालय गेट पर अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठे AISA के सदस्य। - Money Bhaskar
विश्वविद्यालय गेट पर अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठे AISA के सदस्य।

नए सत्र में स्नातक कोर्सेज में अंक के आधार पवर चल रहे नामांकन में बिहार बोर्ड के स्टूडेंट्स को 50% आरक्षण की मांग चल रही है। इसके साथ ही विश्वविद्यालय में खाली पड़े शिक्षकों के पदों का मामला भी गरमाया है। इसके लेकर आइसा से जुड़े स्टूडेंट्स विश्वविद्यालय गेट पर अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठे हैं। छात्रों का कहना है कि आंदोलन तब तक जारी रहेगा जब तक मांग मान नहीं ली जाएगी। छात्रों ने नामांकन व्यवस्था बाधित करने के साथ यूनिवर्सिटी में तालाबंदी की चेतावनी दी है।

12वीं के अंक के आधार पर हो रहा एडमिशन

आइसा (AISA) का कहना है कि विश्वविद्यालय में स्नातक कोर्सेज़ मे हो रहे 12 वी के अंक के आधार पर नामांकन में बिहार बोर्ड के अभियर्थियों को 50℅ आरक्षण देनें साहित अन्य मुद्दों पर छात्र संगठन आइसा ने भूख हड़ताल शुरू किया है। भाकपा माले के नेता अभ्युदय एवं आइसा राज्य अध्यक्ष मोख्तार ने आइसा नेताओं को आंदोलन में समर्थन किया है। आइसा नेता नीरज यादव ने कहा कि विश्वविद्यालय प्रशासन और सरकार बिहार बोर्ड के विद्यार्थियों के साथ अन्याय कर रहा है। CBSE ICSE के विद्यार्थियों के मार्किंग पैटर्न और बिहार बोर्ड का मार्किंग पैटर्न भिन्न होते हैं।

सरकार नहीं दे रही ध्यान

सरकार बिहार बोर्ड के अभ्यर्थियों के उच्च शिक्षा से वंचित कर रही है। छात्रों ने कहा कि शिक्षकों की भारी कमी की वजह से पटना विश्वविद्यालय में दो साल से पीएचडी में नामांकन लंबित है। इतिहास विभाग में प्रोफेसर हीं नहीं हैं। बिहार में लॉ में एडमिशन को बंद कर दिया गया है। छात्रों का कहना है कि अगर विश्वविद्यालय प्रशासन मांग नहीं मानता है तो विश्वविद्यालय में नामांकन बाधित करेंगे और विश्वविद्यालय में तालाबंद कर देंगे। छात्र नेता राकेश ने कहा कि P.hD के 2019 सत्र के अभ्यर्थियों को कोर्स वर्क में तकनीकी कारणों से फेल कर दिया गया है। अगर विश्वविद्यालय री एग्जाम कर के पास नहीं करेगा तब तक आंदोलन किया जाएगा। भूख हड़ताल पर

छात्रों की प्रमुख मांग -

  • स्नातक कोर्सेज में हो रहे नामांकन में बिहार बोर्ड के विद्यार्थियों को 50% आरक्षण मिले।
  • पटना विश्विद्यालय समेत बिहार के सभी विश्वविद्यालयों में रिक्त पड़े शिक्षकों के पदों को अविलंब भरा जाए।
  • कोर्स वर्क में फेल हुए सत्र 2019 के P.hD के छात्रों को री एक्जाम करा के पास किया जाए।
  • बिहार भर में दूरस्थ शिक्षा एवं लॉ कॉलेजों की रद्द की गई मान्यता को पुनः बहाल किया जाए।
  • GS Cash लागू किया जाए।
  • P.hD में नामांकन के प्रवेश परीक्षा की तिथि अविलम्ब घोषित की जाए।
  • सेंट्रल लाइब्रेरी को 24×7 खोला जाए।
खबरें और भी हैं...