पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शराब की बोतल में मिला पानी, पुलिस भी हुई हैरान:बिहार में अब यह भी हो रहा, शराब आ रही बदनाम करने के काम

नवादा5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बिहार में शराब अब बदनामी की वजह बन रही है। नवादा में ऐसा ही एक मामला सामने आया है। सदर अस्पताल में रखे एक डस्टबिन में आज देसी शराब की दो बोतलें मिली। जानकारी मिलते ही हंगामा मच गया। आनन-फानन में इसकी जानकारी नगर थाना को दी गई। थाना से पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची। डस्टबिन से बोतलों को निकालकर जांच शुरु की गई।

नगर थाना ASI राजनंदन प्रसाद ने सबसे पहले बोतलों को खोला। उसे सूंघा तो शराब की गंध नहीं आई। बोतल में भरे लीक्विड की जब और गहराई से जांच-परख की गई तो पता चला कि उसमें तो पानी भरा है। इसके बाद वहां पहुंचे पुलिसवालों और अन्य लोगों की जान में जान आई।

डस्टबिन में शराब की जानकारी मिलते ही उसे देखने के लिए कई लोग पहुंच गए।
डस्टबिन में शराब की जानकारी मिलते ही उसे देखने के लिए कई लोग पहुंच गए।

अस्पताल में चतुर्थवर्गीय कर्मचारी भूषण प्रसाद ने बताया कि रैन बसेरा में कोविड-19 पॉजिटिव मरीजों के लिए वार्ड बनाया गया है। वहां से ही कुछ दूरी पर डस्टबिन रखा है। इसमें आज देसी शराब की दो बोतलें रखी मिली हैं। जैसे ही शराब की जानकारी अस्पताल के कर्मियों को लगी, धीरे-धीरे कर सभी लोग उसे देखने के लिए पहुंच गए।

इसके बाद शराब की खबर मिलते ही नगर थाना की भी तुरंत मौके पर पहुंची थी। लेकिन जांच के बाद जिसे शराब समझ रहे थे, वह पानी निकला। खास बात यह भी है कि बोतल सील नहीं था। इसका मतलब शराब की बोतल में किसी ने पानी लाकर रख दिया था। इसका एक ही मकसद हो सकता है कि अस्पताल कैंपस को बदनाम किया जाए।

डस्टबिन से बोतल निकालते ASI राजनंदन प्रसाद।
डस्टबिन से बोतल निकालते ASI राजनंदन प्रसाद।
जांच के बाद जानकारी देते ASI राजनंदन।
जांच के बाद जानकारी देते ASI राजनंदन।

शराब की जांच करने आए नगर थाना के ASI राजनंदन प्रसाद ने कहा कि शराब की बोतल तो है। लेकिन उसमें शराब नहीं पाया गया है। शराब की जगह उसमें पानी मिला है। किसी ने शरारत की है। अस्पताल की ओर से कोई शिकायत की जाएगी तो हम जांच करेंगे।

खबरें और भी हैं...